अब ATM से मिलेंगे गोलगप्पे,दशवीं फेल छात्र ने बनाई मशीन

-NH Desk,Gujrat

COVID-19 महामारी के दौरान संकट के समय में टेक्नोलॉजी ने हर कदम पर हमारा साथ दिया है। इसी आपदा में अवसर ढूंढ निकाला है गुजरात के बनांसकाठा के एक युवक ने, जिसने लॉकडाउन के दौरान घर में बैठे-बैठे एक ATM जैसी ऑटोमैटिक ‘पानी पुरी’ मशीन का निर्माण किया है, यह मशीन हाइजिन से लेकर सोशल डिस्टेंसिंग तक के नियम का पालन करती है। इस मशीन में आपको बस नोट डालना है और फिर मशीन में से एक-एक करके गोलगप्पे बाहर आने लगते हैं, जिनका आनंद आप बिना किसी दूसरे इंसान के संपर्क में आए उठा सकते हैं।

‘पानी पुरी’ मशीन बनाने वाले युवक का नाम भारत प्रजापति है, जो 33 साल के हैं। आपको जानकर हैरानी होगी कि भारत कोई बड़े इंजीनियर व डिग्री होल्डर नहीं है बल्कि वह स्कूल ड्रॉप-आउट है और बनांसकाठा में एक मोबाइल की दुकान चलाते हैं। प्रजापति का कहना है कि उन्होंने इस गोलगप्पे की मशीन का निर्माण किसी क्लासरूम में शिक्षा लेकर नहीं, बल्कि इलेक्ट्रॉनिक्स के साथ छेड़छाड़ करके किया है। वह बताते हैं कि उन्हें यह मशीन बनाने में 6 महीने का समय लगा। गौर करने वाली बात यह भी है कि प्रजापति ने इस मशीन को बनाने के लिए किसी खास सामान का भी इस्तेमाल नहीं किया है बल्कि उन्होंने कबाड़ की मदद से इस मशीन को बनाकर तैयार किया है।प्रजापति ने एनएच 24 को बताया कि, “हम इस मशीन को दुकान के साथ-साथ रोड  पर भी लगाएंगे। यह मशीन 24 वॉल्ट बैटरी पर काम करती है, सिंगल चार्ज पर यह तकरीबन 6 घंटे काम कर सकती है।”

Review अब ATM से मिलेंगे गोलगप्पे,दशवीं फेल छात्र ने बनाई मशीन.

Your email address will not be published. Required fields are marked *