कैसा होगा लॉकडाउन 5.0, जिसे अनलॉक 1 भी कहा जा रहा है

– Yashaswi Yashawant

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने लॉकडाउन के लिए नए निर्देश जारी कर दिए है। पिछला निर्देश आज समाप्त हो जाएगा अर्थात् हम लॉकडाउन 4.0 पूरा कर लेंगे और कल यानि 1 जून से हम लॉकडाउन 5.0 में नए नियमों के साथ प्रवेश करेंगे। लॉकडाउन के इस पांचवें चरण को अनलॉकडाउन 1.0 भी कहा जा रहा है। इन सब बातों से ज्यादा आवश्यक यह है कि इस लॉकडाउन में आखिर नया क्या है ?

लॉकडाउन के नए नियम करता हैं

आवश्यक सेवाओं के लिए कर्फ्यू का नियम लागू नहीं रहेगा जबकि रात्रि में कर्फ्यू रहेगा। जिसके लिए रात्रि 9 बजे से सुबह 5 बजे का समय बताया गया है।

सोशल डिस्टेंशिंग का पालन करते हुए आप एक राज्य से दुसरे राज्य में जा सकते है। पिछले लॉकडाउन में इसके लिए अनुमति लेनी पड़ती थी।

मंदिर-मस्जिद समेत सभी धार्मिक स्थल भी अब खोल दिए जाएंगे।

कई राज्यों ने केंद्र से मॉल आदि खोलने की मांग की थी, इसको ध्यान में रखते हुए होटल, रेस्तरां, शॉपिंग मॉल को 8 जून से खोलने की अनुमति मिल जाएगी।

क्या नहीं खुलेगा अभी भी

केंद्र सरकार स्कूल, कॉलेज, एजुकेशन, ट्रेनिंग संस्थान और कोचिंग इंस्टिट्यूट के संदर्भ में राज्य सरकारों, बच्चों के माता-पिता और संस्थानों के प्रबंधन से सलाह के बाद फैसला लेगी।

जारी निर्देश में कहा गया है कि कोरोना संक्रमण और उससे उत्पन्न हालात की समीक्षा के उपरांत ही कुछ सेवाओं को शुरू किया जाएगा। इनमें इंटरनेशनल फ्लाइट्स, मेट्रो सर्विस, सिनमा हॉल, जिम, स्वीमिंग पूल, एंटरटेनमेंट पार्क, थिएटर, बार, ऑडिटोरियम और असेंबली हॉल शामिल हैं। इसके अलावा धार्मिक समारोह, राजनीतिक रैलियों, खेल के कार्यक्रम और सांस्कृतिक समारोह पर पूरे जून प्रतिबंध रहेगा।

इससे यह स्पष्ट है कि सरकार सोशल डिस्टेंशिंग को ध्यान में रखते हुए बाजार खोलने की शुरुआत कर चुकी है। ऐसे स्थान जहां पर सोशलिस्ट डिस्टेंसिंग का सख्ती से पालन कम संभव जान पड़ता है या संक्रमण का खतरा जहां ज्यादा है उन्हें 30 जून यानी लॉक डाउन 5.0 के बाद खोलने पर विचार किया जाएगा। इन सब बातों के बीच एक गौर करने करने वाली बात यह भी है कि मंदिरों, मॉल, रेस्टोरेंट आदि स्थानों पर प्रवेश से पहले स्क्रीनिंग की व्यवस्था होगी, बिना स्क्रीनिंग प्रवेश की अनुमति नहीं मिलेगी। गृह मंत्रालय द्वारा जारी नए निर्देश में साफ तौर पर कहा गया है कि रेड, ग्रीन और ऑरेंज जोन के जगह पर अब सिर्फ कंटेनमेंट जॉन होंगे जिन इलाकों में कोरोना वायरस का खतरा ज्यादा होगा उन्हें कंटेनमेंट जोन के रूप में चिन्हित किया जाएगा बाकी के सभी इलाके जहां पर सामान्य जनजीवन होगा उन्हें लोग डाउन से मुक्त रखा जाएगा। ऐसे में यह लाजिमी है कि इस नए लॉक डाउन को अनलॉकडाउन की शुरुआती प्रक्रिया के रूप में देखा जाए।

Review कैसा होगा लॉकडाउन 5.0, जिसे अनलॉक 1 भी कहा जा रहा है.

Your email address will not be published. Required fields are marked *