कोबरा-कमांडो से दुर्व्यवहार करने पर सोशल मीडिया पर उठी राज्य के गृह मंत्री के इस्तीफे की मांग

-NH Desk, Karnatak

(हि.स.)। बेलगावी जिले के चिक्कोड़ी तालुक एक्साम्बा में 23 अप्रैल को सीआरपीएफ के कोबरा कमांडो से स्थानीय पुलिस के दुर्व्यवहार करने और जंजीर से बांधकर रखने का मामला तूल पकड़ने पर कर्नाटक सरकार बैकफुट पर आ गई है। सीआरपीएफ अधिकारियों के विरोध जताने पर सरकार ने कमांडो पर लगे मुकदमे को वापस लेने का आश्वासन दिया है।
कर्नाटक के पुलिस महानिदेशक ने केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के अधिकारियों को आश्वस्त किया है कि कोबरा कमांडो सचिन सावंत के खिलाफ दर्ज मुकदमे को वापस ले लिया जाएगा। इस बीच बुधवार की शाम से सोशल मीडिया पर कमांडो सावंत की गिरफ्तारी को लेकर कर्नाटक के गृह मंत्री बसवराज बोम्मई के इस्तीफे की मांग उठी। बोम्मई के इस्तीफे की मांग वाला ट्विटर पर हैशटैग ट्रेंड किया जो ‘रिजाइनएचएमबोम्मई’ के नाम से था। इस पर बुधवार रात तक 27 हजार से अधिक ट्वीट किए हैं।
सामाजिक कार्यकर्ता चक्रवर्ती सुलिबेल ने ट्विटर पर लिखा कि सावंत के खिलाफ मुकदमा वापस लेने की संभावना है। उन्होंने कहा कि इस तरह के क्रूर हमले के बाद मामला वापस लेना निश्चित रूप से काफी नहीं है। गृह मंत्री काे इस्तीफा देना चाहिए अथवा बेलागवी पुलिस अधीक्षक को निलंबित किया जाए।

एक अन्य ट्वीट में कहा गया है कि सीआरपीएफ कमांडो सचिन सावंत को पुलिस को बेरहमी से पीटा है। पूरे पुलिस विभाग के लिए यह शर्म की बात है और गृह मंत्री को इसके लिए जिम्मेदार ठहराया जाना चाहिए।
एक अन्य ट्वीट में सेना के जवानों को गिरफ्तार करने के दौरान प्रोटोकॉल का पालन करने पर जोर दिया गया है। गिरफ्तारी की बात को निकटतम सैन्य स्टेशन मुख्यालय को लिखित पत्र से सूचित किया जाना चाहिए।

उल्लेखनीय है कि मास्क न लगाने के आरोप में स्थानीय पुलिस ने सीआरपीएफ कमांडो सचिन सावंत के साथ मारपीट की और पुलिस स्टेशन ले जाकर जंजीर से बांधकर रखा। बाद में कमांडो के खिलाफ मुकदमा दर्ज करके जेल भेजा गया था। जब इस घटना की जानकारी सीआरपीएफ के अधिकारियों को हुई तो कोबरा कमांडो को जमानत पर रिहा कराने के साथ ही कर्नाटक के पुलिस अधिकारियों से मिलकर विरोध जताया। इस पर कर्नाटक सरकार और पुलिस प्रशासन बैकफुट पर आ गया है और कमांडो पर दर्ज केस वापस लेने का आश्वासन दिया है।

Review कोबरा-कमांडो से दुर्व्यवहार करने पर सोशल मीडिया पर उठी राज्य के गृह मंत्री के इस्तीफे की मांग.

Your email address will not be published. Required fields are marked *