कोलकाता- पटना ग्रीन फिल्ड एक्सप्रेस वे से जुड़ेगा देवघर,3 घंटे का होगा पटना-कोलकाता का सफर

झारखंड (NH Desk) : भारत अपनी आजादी का अमृत उत्सव मना रहा है। झारखंड के सबसे पिछड़े संताल परगना के गोड्डा संसदीय क्षेत्र के लोगों को दो बड़ी सौगात दो ग्रीन फिल्ड एक्सप्रेस वे भारतमाला टू से मिली है।रक्सौल-हल्दिया 695 किमी की सड़क 54 हजार करोड़ की है। पटना-कोलकाता 495 किमी सड़क 21 हजार करोड़ की है। हल्दिया पोर्ट से जुड़ने वाली एक्सप्रेस वे की निविदा निकाली जा चुकी है। पटना-कोलकाता एक्सप्रेस वे को सैंद्धांतिक मंजूरी दी गयी है। सांसद निशिकांत दुबे ने बुधवार को अपने आवास पर कहा कि गोड्डा संसदीय क्षेत्र की जनता को दो बड़ी सौगात मिली है। दो ग्रीन फिल्ड एक्सप्रेस वे से यहां के लोगों का पटना, कोलकाता और नेपाल की राजधानी से सीधा संपर्क हो जाएगा।

अब सफर होगा सिर्फ 3 घंटे का पटना से कोलकाता का

देवघर, दुमका और गोड्डा की जनता को नेपाल की राजधानी काठमांडू जाने में 12 घंटा लगेगा। पटना और कोलकाता जाने में दो से तीन घंटा लगेगा। भारत सरकार और बिहार सरकार ने नेपाल से सीधा संपर्क बनाने के लिए हल्दिया बंदरगाह को नेपाल की सीमा रक्सौल से जोड़ने का निर्णय लिया है। इस एक्सप्रेस वे के एलाइनमेंट एरिया में गोड्डा संसदीय क्षेत्र को जोड़ा गया है। रक्सौल से चलने वाला छह लेन वाला पथ बिहार के बांका जिला की सीमा से झारखंड के दुमका जिला के सरैयाहाट, नौनीहाट, दुमका और आसनसोल से जुड़ेगा।

साहिबगंज बंदरगाह से जुड़ेगा गोड्डा-देवघर

भाजपा सांसद दुबे ने बताया कि दूसरा एक्सप्रेस वे जो पटना-कोलकाता वाला है। वह पटना, बिहारशरीफ, सिकंदरा, चकाई से देवघर की सीमा में मधुपुर में प्रवेश करेगा। इसके बाद जामताड़ा, दुर्गापुर, दानकोनी से कोलकाता पहुंच जाएगी। तो गोड्डा साहिबगंज बंदरगाह, हल्दिया बंदरगाह और कोलकाता बंदरगाह से जुड़ जाएगा।

Review कोलकाता- पटना ग्रीन फिल्ड एक्सप्रेस वे से जुड़ेगा देवघर,3 घंटे का होगा पटना-कोलकाता का सफर.

Your email address will not be published. Required fields are marked *