खिलाड़ियों की असफलता में सफलता का मार्ग प्रशस्त होता हैः कुलपति प्रो0 रविशंकर सिंह

अयोध्या। डाॅ0 राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय में कीड़ा विभाग द्वारा आयोजित अंतरविभागीय वार्षिक खेल प्रतियोगिता 2020-21 के सम्मान एवं पुरस्कार वितरण समारोह का आयोजन 7 जुलाई, 2021 दिन बुधवार को सायं 4 बजे कोविड प्रोटोकॉल में स्वामी विवेकानंद सभागार में किया गया। समारोह में कुलपति एवं कुलसचिव ब्रिगेड के बीच खेले गये विशेष मैचों के विजेता एवं उपविजेता तथा खेलों में प्रथम द्वितीय एवं तृतीय स्थान प्राप्त छात्र-छात्राओं को अविवि के कुलपति प्रो0 रविशंकर सिंह, मुख्य अतिथि ओलंपियन अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी सुजीत कुमार, विश्वविद्यालय के वित्त अधिकारी श्री धनंजय सिंह एवं कुलसचिव श्री उमानाथ ने स्मृति चिन्ह एवं ट्रॉफी देकर सम्मानित किया। कुलपति और कुलसचिव ब्रिगेड के बीच खेले गए मैचों में पुरस्कार के क्रम में पुरुष वर्ग के म्यूजिकल चेयर खेल में कुलसचिव ब्रिगेड से संतोष कुमार मौर्य विजेता और कुलपति ब्रिगेड से इंजीनियर अमितेश कुमार पंडित उपविजेता से सम्मानित किया गया। वहीं महिला वर्ग में कुलपति ब्रिगेड से प्रो0 नीलम पाठक विजेता और कुलसचिव ब्रिगेड से कृतिका निषाद उपविजेता सम्मानित किया गया। बैडमिंटन के मुकाबले में कुलसचिव ब्रिगेड से आनंद मौर्य और कुलपति ब्रिगेड से प्रो0 शैलेंद्र कुमार वर्मा को क्रमशः विजेता और उपविजेता का मेडल दिया गया। वहीं अन्य मुकाबले में कुलपति ब्रिगेड से डॉ0 राणा रोहित सिंह को विजेता और कुलसचिव ब्रिगेड से हिमांशु मिश्रा को उपविजेता का मेडल प्रदान किया गया। बैडमिंटन के डबल मुकाबले में पुरुष वर्ग में प्रो0 शैलेंद्र कुमार वर्मा और डॉ0 मनीष सिंह की जोड़ी को विजेता और आनंद मौर्य, डॉ0 राजेश सिंह को उप विजेता की ट्रॉफी दी गई। महिला मुकाबले में वल्लभी तिवारी को विजेता व आस्था सिंह कुशवाहा को उप विजेता की ट्रॉफी प्रदान की गई।

सम्मान समारोह में टेबल टेनिस में बालक वर्ग में सुजीत कुमार को विजेता और बालकृष्ण यादव को उपविजेता की ट्रॉफी प्रदान की गई। वहीं बालिका वर्ग में सुशील शिखा पाल को विजेता और रीना बानो को उप विजेता की ट्राफी दी गई। अश्विनी कुमार को विजेता और दीपेश सिंह को उप विजेता की ट्रॉफी देकर सम्मानित किया गया। वहीं महिला वर्ग में कोमल सिंह को विजेता और दीपशिखा को उपविजेता की टॉफी देकर सम्मानित किया गया। दूसरी ओर कैरम खेल के बालक वर्ग में ओम शंकर को विजेता और देवेंद्र प्रताप सिंह को उप विजेता का मेडल प्रदान किया गया। बालिका वर्ग में शिवा को विजेता और सुश्री हिमांशी सिंह को उपविजेता की ट्रॉफी देकर सम्मानित किया गया। शतरंज खेल में बालक वर्ग में जितेन कुमार पटेल को विजेता और हिमांशु कसौधन को उपविजेता की टॉफी देकर सम्मानित किया गया। बालिका वर्ग में सोनम जायसवाल को विजेता और दूसरी आराधना को उपविजेता की ट्राफी देकर सम्मानित किया गया। बैडमिंटन खेल के बालक वर्ग में जतिन कुमार को विजेता और आदित्य कुमार को उपविजेता की टॉफी देकर सम्मानित किया गया वहीं महिला वर्ग में अंजू को विजेता और दीप्ति को उपयोगिता की ट्रॉफी देकर सम्मानित किया गया। इसी क्रम में अंतरविभागीय खेलकूद प्रतियोगिता के मुख्य अतिथि रहे प्रो0 अजय प्रताप सिंह, प्रो0 नीलम पाठक, प्रो0 आर के तिवारी, प्रो0 चयन कुमार मिश्र, उपकुलसचिव विनय कुमार सिंह, प्रो0 फारुख जमाल, प्रो0 हिमांशु शेखर सिंह, प्रो0 विनोद श्रीवास्तव, प्रो0 अनूप कुमार, प्रो0 गंगाराम मिश्र, प्रो0 राजीव गौण, प्रो0 आर के सिंह, प्रो0 तुहिना वर्मा, प्रो0 शैलेंद्र वर्मा, डाॅ0 विजयेन्दु चतुर्वेदी, डॉ0 अनिल कुमार मिश्र, डॉ0 राजेश सिंह कुशवाहा एवं डाॅ0 दीपशिका, अरविंद यादव, कुमार मंगलम, संघर्ष सिंह, देवेंद्र वर्मा, को कुलपति एवं मुख्य अतिथि ने स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया।

सम्मान समारोह की अध्यक्षता कर रहे कुलपति प्रो0 रविशंकर सिंह ने कहा कि खिलाड़ियों को खेल भावना के साथ खेलना चाहिए। खिलाड़ियों की असफलता में सफलता का मार्ग प्रशस्त होता है। इसलिए सफलता प्राप्त करने के लिए निरंतर अभ्यास करते रहें। कुलपति ने खिलाड़ियों से कहा कि देश के लिए सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना चाहिए। जिन्होंने देश के सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया है खिलाड़ियों को उनसे प्रेरणा लेनी चाहिए।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि ओलंपियन व अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी सुजीत कुमार ने कहा कि खिलाड़ी को सदैव कठिन परिश्रम की आवश्यकता है। इससे खिलाड़ियों के मस्तिष्क का विकास होगा। खेल में प्रतिभाग करते समय खिलाड़ियों को अपने दिमाग का सही उपयोग करना चाहिए। यदि खिलाड़ी लक्ष्य बड़ा रखेंगे तो सफलता मिलनी निश्चित है। उन्होंने कहा कि खिलाड़ी को स्नातक होना जरूरी है और शिक्षकों का हमेशा सम्मान करना चाहिए। उनकी फटकार छात्रों के व्यक्तिगत विकास में सहायक होगी। उन्होंने कहा कि छात्रों को अपना कॅरियर बनाने के लिए पूरी छूट मिलनी चाहिए। जिस क्षेत्र में रूचि हो उसमें मन लगाकर करें।

समारोह में अविवि क्रीड़ा परिषद अध्यक्ष प्रो0 जसवंत सिंह ने अतिथियों का स्वागत करते हुए कहा कि विश्वविद्यालय का खेल विभाग डॉ मुकेश कुमार वर्मा के नेतृत्व में लगातार विकास कर रहा है। पिछले वर्ष कोविड प्रोटोकाॅल में खेल प्रतियोगिताएं कराई गई। जिसमें विशेषकर 4th अयोध्या हाॅफ मैराथन रहा है। विश्वविद्यालय के खिलाड़ी राष्ट्रीय एवं क्षेत्रीय स्तर की प्रतियोगिता में अपना परचम फहराया है। उन्होंने खिलाड़ियों से कहा कि खेल में अच्छे से अच्छा प्रदर्शन करते रहना चाहिए।

कार्यक्रम का शुभारम्भ माॅ सरस्वती की प्रतिमा पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्जवलन के साथ किया गया। कार्यक्रम में विश्वविद्यालय की कुलगीत की प्रस्तुति की गई। धन्यवाद ज्ञापन विश्वविद्यालय के क्रीड़ा प्रभारी व आयोजन सचिव डाॅ0 मुकेश कुमार वर्मा ने किया। संचालन डाॅ0 निखिल उपाध्याय ने किया। इस अवसर पर विश्वविद्यालय के शिक्षक, कर्मचारी एवं प्रतिभागी उपस्थित रहे।

Review खिलाड़ियों की असफलता में सफलता का मार्ग प्रशस्त होता हैः कुलपति प्रो0 रविशंकर सिंह.

Your email address will not be published. Required fields are marked *