घुसखोरी के आरोप में गिरफ्तार

 

NH DESK , jharkhand

निहित कुमार

रिश्वतखोरी के आरोप में गिरफ्तार किया गया कैशियर   त्रिलोचनदास  लातेहार।

एसीबी की टीम ने रिश्वतखोरी के आरोप में पीएचइडी के कैशियर त्रिलोचन दास को गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तारी के बाद टीम कैशियर को साल लेकर डाल्टनगंज ले गई। उसे पानी टावर योजना में 8000 रिश्वत लेते एसीबी  ने  रंगों हाथ गिरफ्तार कीया
बताया जाता है कि सदर प्रखंड के उड़सुगी गांव में वाटर टावर लगाने को लेकर आरोपी की ओर से रिश्वत की मांग की थी। वह करीब 10 लाख रुपये की योजना मद में भुगतान के लिए 8000 रुपये की मांग कर रहा था। शिकायतकर्ता मोद्दसीर अंसारी ने यह शिकायत एसीबी से की गई थी। शिकायत के आलोक में एसीबी ने पहले टीम बनाकर उसकी जांच की। जांच में शिकायत की पुष्टि होने के बाद एसीबी की टीम ने यह कार्रवाई की। बताया जाता है कि शिकायतकर्ता ने जैसी ही कैशियर को उक्त राशि थमायी पीछे से पहुंची एसीबी की टीम ने उसे दबोच लिया। एसीबी की ओर से रिश्वतखोरी के खिलाफ लगातार कार्रवाई के बाद भी विकास कार्यों में घुसखोरी पर विराम नहीं लग रहा।
::एसीबी ने पहले भी किया है गिरफ्तार::
इससे पहले भी एसीबी की टीम ने अक्टूबर 2015 में बिशुनपुरा के राजस्व कर्मचारी राजकुमार साहू, सितंबर 2017 बिशुनपुरा के बीडीओ अशोक कुमार, 2020 में प्रखंड के सरांग पंचायत के जन सेवक संजय गुप्ता, मझिआंव से रोजगार सेवक सच्चिदानंद तिवारी, मेराल का अंचल राजस्व कर्मचारी शंकर पांडेय, दिसंबर 2020 को भंडरिया प्रखंड के जनेवा पंचायत के पंचायत सेवक सुनिल कुमार, 2016 में मेराल प्रखंड के गोंडा गांव के मुखिया प्रकाश कुमार अरुण, जनवरी 2021 में डंडई प्रखंड के करके पंचायत के रोजगार सेवक शैलेश कुमार सहित अन्य को पहले भी गिरफ्तार कर चुकी है।
: 👆 श्रीमान लातेहार पीएचडी में भी कार्यरत थे

Review घुसखोरी के आरोप में गिरफ्तार.

Your email address will not be published. Required fields are marked *