चाराभूमि के मामले को लेकर ग्रामीणों ने दिया उपखंड अधिकारी को ज्ञापन

 

चाराभूमि के मामले को लेकर ग्रामीणों ने दिया उपखंड अधिकारी को ज्ञापन।सांसद भागीरथ चौधरी व विधायक सुरेश टांक को भी दिया गया ज्ञापन।करोड़ों रुपए की चारागाह जमीन को आवंटन करवा कर किया जा रहा है घोटाला।काली डूंगरी के बाहर मेन हाईवे पर 16 बीघा चरागाह भूमि का है यह मामला।

चारागाह भूमि के मामले को लेकर खातोली ग्राम के सरपंच हरिराम बाना, करतार जाट एवं ग्रामीण एसडीएम कार्यालय पहुंचे। ग्रामीणों ने उपखंड अधिकारी परसाराम सैनी, अजमेर सांसद भागीरथ चौधरी व विधायक सुरेश टांक को भी ज्ञापन सौंपा। सरपंच हरिराम बाना ने बताया कि काली डूंगरी के बाहर मेन हाईवे पर 16 बीघा चरागाह भूमि पर राज्य सरकार की मिलीभगत से जिला कलेक्टर ने हाल ही में आदेश जारी किए हैं कि वह जमीन पूर्व विधायक नाथूराम सिनोदिया पोते रवि सिनोदिया के नाम पर अलॉटमेंट जारी किया गया है। जिसको लेकर काली डूंगरी के ग्रामीणों में भारी आक्रोश है इस संदर्भ में आज सभी ग्राम वासियों ने विरोध जताते हुए उपखंडअधिकारी परसाराम सैनी, सांसद भागीरथ चौधरी व विधायक सुरेश टांक को ज्ञापन दिया। जल्द से जल्द मामले में संज्ञान लेते हुए 16 बीघा जमीन मुक्त करवाने की मांग की है। वही दूसरी और ग्रामीणों ने कहा कि इस चरागाह भूमी पर गौशाला का निर्माण करवा दिया जाए, जिससे गौशाला में गौ माताओं की देखभाल हो सके। वहीं करोड़ों रुपए की जमीन का जो घोटाला किया जा रहा है उस पर कार्यवाही की जाए। वही करतार चौधरी ने बताया की चरागाह भूमी किसी व्यक्ति विशेष के नाम नहीं हो सकती है, ओर अगर नाम होती है तो उसके स्थान पर चारागाह भूमि के लिए जगह कहां आवंटित की जा जाएगी। करतार चौधरी ने बताया कि ग्राम पंचायत ने इस भूमि को अभी तक आवंटित नहीं किया है जब भूमि आवंटित ही नहीं की गई है तो यह किसी व्यक्ति विशेष के कैसे नाम हो सकती है। ग्रामीणों ने ज्ञापन के माध्यम से जल्द से जल्द उचित कार्यवाही की मांग की।

Review चाराभूमि के मामले को लेकर ग्रामीणों ने दिया उपखंड अधिकारी को ज्ञापन.

Your email address will not be published. Required fields are marked *