जब पाकिस्तानियों ने की थी कश्मीर के बदले माधुरी दीक्षित की डिमांड

-NH Desk, Mumbai

माधुरी दीक्षित हिन्दी सिनेमा की ऐसी अभिनेत्री है जिन्हें 14 बार फिल्मफेयर पुस्कार का नामंकन मिला, जिनमें चार बार विजेता रही। इन दिनों माधुरी दीक्षित भी रिएलिटी टीवी शो ‘डांस दीवाने’ के नए सीजन के जज के तौर पर वापसी करने के लिए बिल्कुल तैयार हैं, जिसके पहले प्रोमो की शूटिंग उन्होंने अपने घर पर रहकर की है। क्योंकि कोरोना के कारण पूरे देश में 17 मई तक लॉकडाउन लगा हुआ है।

माधुरी का जन्म 15 मई 1967 को मुंबई में एक मध्यम वर्गीय मराठी ब्राह्मण परिवार में हुआ। उन्होंने अपनी शुरूआती पढ़ाई मुंबई से हासिल की। इसके बाद उन्होनें मुंबई यूनिवर्सिटी में माइक्रोबॉयलॉजी में डिग्री ली। इसी बीच माधुरी ने कत्थक की शिक्षा हासिल की।  माधुरी दीक्षित एक बेहतरीन कलाकार से बढ़कर बेहतरीन इंसान भी हैं। एक समय ऐसा भी था जब उन्हें एक फिल्म में काम करने के लिए एक महिला कलाकार के तौर पर सबसे ज्यादा पैसे मिलते थे।

बॉलीवुड में उस वक्त केवल माधुरी दीक्षित ही ऐसी अदाकारा थीं जिन्हें पंडित बिरजू महाराज ने कोरियोग्राफ किया था। संजय लीला भंसाली की फिल्म ‘देवदास’ का गाना ‘काहे छेड़ मोहे…’ को बिरजू महाराज ने कोरियोग्राफ किया था। इस गाने के लिए माधुरी दीक्षित ने जो भारी भरकम लंहगा पहना था उसकी कीमत 15 से 20 लाख के बीच थी।

माधुरी के करियर की शुरूआत

माधुरी ने हिंदी सिनेमा में करियर की शुरूआत 1984 में राजश्री प्रोडक्शन के बैनर तले बनी फिल्म ‘अबोध’ से की। लोकिन यह फिल्म बॉक्स ऑफिस पर फ्लॉप हो गई मगर माधुरी फिल्म इंडस्ट्री में अपना मकाम हासिल करने के लिए संघर्ष करती रहीं। 1988 में आई फिल्म ‘तेजाब’ से माधुरी का सितरा चमका। इस फिल्म से माधुरी रूपहले पर्दे लेकर लोगों के दिलों पर छा गईं। इस फिल्म से माधुरी को ऐसी सफलता मिली कि उन्होंने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। इस फिल्म में उनकी बेहतरी एक्टिंग के लिए उन्हें फिल्मफेयर अवार्ड के लिए नॉमिनेट भी किया गया था। इस फिल्म का एक गाना ‘एक दो तीन….’ आज भी माधुरी दीक्षित का आइकॉन सॉन्ग माना जाता है।

फिल्म ‘दयावान’ में अपने से 21 साल बड़ी उम्र के एक्टर विनोद खन्ना के साथ दिए गए उनके किस सीन ने उस वक्त तहलका मचा दिया था। बता दें कि इस सीन की खूब आलोचना हुई थी। एक इंटरव्यू में खुद माधुरी ने कहा था कि उन्हें इस सीन को नहीं करना चाहिए था।

एक वक्त था जब अनील कपूर का नाम माधुरी दीक्षित के साथ जुड़ने लगा था। दोनों ने ‘तेजाब’, ‘राम लखन’, ‘किशन कन्हैया’ और ‘बेटा’ जैसी फिल्मों में साथ काम किया है। इतना ही नहीं माधुरी दीक्षित के दीवानें सिर्फ इंडिया में ही नहीं पाकिस्तान में भी थे। कहा जाता है जब बॉर्डर पर जंग छिड़ी थी तो पाकिस्तानियों ने कहा था, कि हम कश्मीर छोड़ देंगे अगर तुम हमें माधुरी दीक्षित दे दो।

संजय दत्त के साथ माधुरी के अफेयर

संजय दत्त के साथ भी माधुरी के अफेयर की खबरें खूब चर्चा में रही। फिल्म ‘साजन’ शूटिंग के दौरान दोनों एक-दूसरे के बेहद करीब आ गए थे और शादी तक करने का प्लान कर रहे थे। इस वक्त संजय शादीशुदा थे और उनकी एक बेटी त्रिशाला थी। माधुरी के पिता को ये रिश्ता पसंद नहीं था।1993 में जब संजय जेल गए तो माधुरी ने भी उनसे दूरी बना ली। संजय 16 महीने जेल में रहे, लेकिन माधुरी एक बार भी उनसे मिलने जेल नहीं गईं यहां तक की संजय के जेल से बाहर आने के बाद भी नहीं मिलीं। संजय इस बात से इतने नाराज हुए कि उन्होंने माधुरी के साथ फिर कोई फिल्म साइन नहीं की।

दुनिया के मशहूर पेंटर एमएफ हुसैन भी माधुरी दीक्षित के बड़े फैन रहे हैं। उन्होंने माधुरी की फिल्म हम आपके है कौन करीब 67 बार देखी थी। जब माधुरी ने ‘आजा नचले’ के साथ अपना कमबैक किया तो हुसैन ने पूरा थियेटर बुक कर लिया था।

इन फिल्मों में दी अपनी आवाज 

माधुरी दीक्षित ने प्लेबैक सिंगर के तौर पर फिल्म ‘देवदास’ और ‘वजूद’ में अपनी आवाज भी दी है। बेहतरीन एक्टिंग के साथ साथ माधुरी ने बहुत से ऐसे डांस नंबर बॉलीवुड को दिए हैं जो ताउम्र लोगों को याद रहेंगे। इसके अलावा उन्होंने ‘तेजाब’, ‘राम लखन’, ‘परिन्दा’, ‘दिल तो पागल’, ‘पुकार’, ‘लज्जा’ , ‘देवदास’ , ‘आजा नचले’ सहित तकरीबन 70 फिल्मों में काम किया।

माधुरी ने 1999 में यूएसए बेस्ड डॉक्टर श्री राम नेने से शादी की और अमेरिका चली गई और 2006 में पूरे परिवार के साथ वापिस भारत लौट आई। भारत वापिस लौटते ही माधुरी ने फिल्म ‘आजा नचले’ से कम बैक किया। उनके दो बच्चे रियान और एरिन नेने है।

Review जब पाकिस्तानियों ने की थी कश्मीर के बदले माधुरी दीक्षित की डिमांड.

Your email address will not be published. Required fields are marked *