जब फीस बनी पढ़ाई में बाधा, नवोदय परिवार का मिला उम्मीद से ज्यादा साथ

– NH Desk,Lucknow 

सोशल मीडिया पर आप रोज चाहे दर्जनों निराश करने वाली खबरें, सूचनाएं देखते है. लेकिन हर दिन एक कोई ना कोई ऐसी खबर तो मिल ही जाती है जो दिल को ठंडक दे जाती है. दिन भर आपके दिमाग में भरे गए सारे जहर यकायक खत्म हो जाते हैं. जहां एक तरफ लोग हताशा और निराशा फैला रहे हैं, वहीं दूसरी तरफ लोग किसी के चेहरे की खोई मुस्कान लौटाने की कोशिश में लगे हैं.

शहर के अंधेरे को इक चराग़ काफ़ी है
सौ चराग़ जलते हैं इक चराग़ जलने से

यह शेर तब और प्रासंगिक हो जाता है, जब अपने पिता के हत्यारों को सजा दिलाने के लिए संघर्षरत छात्रा का नामांकन शुल्क भरने के लिए उसके ही विद्यालय के कई पूर्ववर्ती छात्र सहयोग के लिए आगे आते हैं.

मामला लखनऊ का है. पिछले दिनों लखनऊ के काकोरी थाना अंतर्गत बड़ागांव निवासी एक पुरोहित की हत्या जमीनी विवाद में गांव के दबंगों द्वारा कर दी गई। इसी बीच मृत पुरोहित की बेटी का कॉलेज में नामांकन आर्थिक वजहों से नहीं हो पा रहा था। नामांकन के लिए लगभग 26000 हजार रुपये की जरूरत थी लेकिन परिवार इतनी बड़ी रकम भरने में सक्षम नहीं था। सोशल मीडिया द्वारा इस बात की सूचना जब स्थानीय नवोदय विद्यालय के पूर्ववर्ती छात्रों को चला तो उन्होंने आपसी सहयोग के द्वारा 40154 रुपये की  धनराशि का इंतजाम कर तनु का सहयोग किया।

नवोदयन्स हाइट्स से बात करते वक्त इस मुहिम का नेतृत्व करने वाले एलुमनाई भवानी शंकर महाना ,रणविजय  ने बताया कि” नवोदय हमें यही संस्कार देता है कि समाज का हरेक व्यक्ति हमारे परिवार का हिस्सा है। वैसे भी मानवता सबसे बड़ाधर्म हैं, अगर वह लड़की नामांकन नहीं करा पाती तो ये हमारी नाकामी होती।” इस नेक कार्य में लखनऊ एवं आसपास के नवोदय विद्यालय के पूर्ववर्ती छात्रों की सक्रियता रही। चंदा इकट्ठा करने का जिम्मा नवोदय की बड़ी बहन स्वेता सिंह ने लिया  Navodayans In Lucknow के सहयोगी सदस्यों द्वारा समस्त सहयोग राशि स्वेता सिंह के खाते में 40154 रुपए की रकम एकत्र की गई। स्वेता सिंह ने इस एकत्र धनराशि को पीड़ित परिवार तनु के खाते में भेज दी गई। लोगों द्वारा किये गए इस सहयोग पर नवोदयन व व्यवसायी अनिल दीप आनंद बताते हैं कि इस प्रकार आज फिर एक बार नवोदय विद्यालय के पूर्व छत्रों ने एक देश एक परिवार होने का सबूत दे दिया। वास्तव में यह अनुकरणीय हैं और हम सब को ऐसे कामों में बढ़ चढ़ का हिस्सा लेना चाहिए।

समस्त सहयोग करने वालों की सूची

1-cp mishra
2-name batane ko mna kia
3-sanjay
4-charu
5-pushpendra
6-ranvijay verma
7-nitya
8-TN kaushal
9-saket
10-ahsan
11-pragya panday
12-rakesh
13-sachin
14-ashutosh pathak
15-keshav
16-akash sen
17-name batane ko mna kiya
Total=19301
18-ashish mishra
19-anushree
20-deepak sachan
21-ratnesh
22-name batane ko mna kia
23-name batane ko mna kia
24-anil sdo
25-umakant bhai
26-abhinav
27-shradha di
28-sandhya sri
29-bhawani
30-vinod
31-ram chandra sidharth
32-javed
33-rakhi
34-shalini
35-anuranjini
36-ashwani

37-ramesh kumar
38-tulika di
39-amitosh
40-praveer
41-naam batane ko mana kiya
42-sana
43-garima
44-harendra singh
45-anamika dwivedi
46-00dr vijay
47-dr deep gagan
Total=40154

 

Review जब फीस बनी पढ़ाई में बाधा, नवोदय परिवार का मिला उम्मीद से ज्यादा साथ.

Your email address will not be published. Required fields are marked *