डीएलएड का सत्र फिर से पटरी पर लौटा, तृतीय सेमेस्टर हुआ प्रमोट

 

प्रयागराज।कोरोना काल में डीएलएड सत्र पटरी से उतर गया था। न तो सेमेस्टर परीक्षाएं हो रही थी और न ही नए सत्र की प्रवेश प्रक्रिया शुरू हो रही थी।बुधवार को उत्तर प्रदेश सरकार ने तृतीय सेमेस्टर के प्रशिक्षुओं को कक्षोंन्नति करने का निर्णय लिया।जिसके बाद पीएनपी सचिव ने तृतीय सेमेस्टर कक्षोन्नति करने का आदेश जारी किया। 2019 बैच का सत्र 6 अगस्त 2019 को शुरू हुआ था। कोरोना की पहली लहर में लिखित परीक्षा नहीं होने से प्रदेश सरकार ने इन प्रशिक्षुओं के प्रथम सेमेस्टर को दूसरे सेमेस्टर में प्राप्त अंको के आधार पर प्रोन्नत करने का निर्णय लिया था। डीएलएड-2019 बैच में पंजीकृत 172738 प्रशिक्षु हैं जिसमें 169812 प्रशिक्षु द्वितीय सेमेस्टर की परीक्षा में शामिल हुए। इनमें से 71668 फेल हो गए। इसके बाद लगभग 45 हजार प्रशिक्षुओं ने स्क्रूटनी के लिए आवेदन किया जिसमें लगभग 1350 प्रशिक्षु ही पास हो पाये।लभगभ 70 हजार तृतीय सेमेस्टर की परीक्षा देनी पड़ेगी द्वितीय सेमेस्टर में उत्तीर्ण 98144 प्रशिक्षुओं को प्रोन्नति का लाभ मिलेगा। चतुर्थ सेमेस्टर की परीक्षाएं सितम्बर अंत मे कराने का निर्णय लिया गया है।चतुर्थ सेमेस्टर में प्राप्त अंको के आधार पर तृतीय सेमेस्टर के अंक दिए जायेंगे।
कोरोना के चलते डीएलएड 2020 सत्र शून्य हो गया लेकिन 2021 की प्रवेश प्रक्रिया शुरू हो गयी है।साथ ही प्रशिक्षण शुरू होने की तिथि 7 सितंबर प्रस्तावित है।डीएलएड संयुक्त प्रशिक्षु मोर्चा के सुल्तानपुर के जिला उपाध्यक्ष मनोज कुमार व जिला प्रवक्ता सत्यम मिश्र ने सभी डीएलएड प्रशिक्षुओं को बधाई दिया।उन्होंने कहा डीएलएड-2019 बैच के प्रशिक्षुओं के लिए बहुत बड़ी खुशखबरी है।आगामी शिक्षक भर्ती में डीएलएड-2019 बैच को शामिल होने मौका मिलेगा।वहीं प्रशिक्षु सुरेंद्र कुमार ने कहा कि डीएलएड तृतीय सेमेस्टर की प्रोन्नति बहुत जरूरी थी। डायट सुल्तानपुर से प्रशिक्षण ले रहे अवधेष तिवारी ने कहा डीएलएड तृतीय सेमेस्टर प्रमोट को लेकर पीएनपी से एससीईआरटी लखनऊ तक के कई बार धरना प्रदर्शन आयोजित किया गया जिसके फलस्वरूप शासन ने प्रमोट करने का निर्णय लिया। विवेक यादव,संदीप यादव,नितीराम,जनार्दन यादव,तिलकराम आदि प्रशिक्षुओं ने डीएलएड प्रमोट होने की खुशी जाहिर की।

Review डीएलएड का सत्र फिर से पटरी पर लौटा, तृतीय सेमेस्टर हुआ प्रमोट.

Your email address will not be published. Required fields are marked *