दहेज मुक्त भारत – खुशहाल भारत

चंद्रप्रकाश सोनी।

 

समाज में चल रही कुरीतियों और आडम्बरों से हटकर एक ऐसा अनोखा विवाह(रमैनी) ग्राम जंजीला(परबतसर),नागौर में देखा गया

मात्र 17 मिनट में गजेंद्र पुत्र किशन ग्राम – बेडा जिला(पाली) तथा प्रियंका पुत्री प्रकाश ग्राम,जंजीला परबतसर ने बिना एक रुपया लेन -देन के और बिना पंडित के अपने गुरुदेव जी को साक्षी मानकर गुरुवाणी के द्वारा 33 करोड़ देवी देवताओं की स्तुति करते हुए सादगी से विवाह किया

 

अपने आध्यात्मिक गुरु तत्वदर्शी संत रामपाल जी महाराज से प्रेरणा लेकर संत के अनुयायी देशभर में देहज मुक्त,पाखण्ड मुक्त, नशा मुक्त तथा सभी कुरूतियों से मुक्त समाज का निर्माण कर रहे हैं इस रमैणी ( शादी) के अंदर ना तो कोई बैंड बाजा बजाया गया ना ही कोई मिठाई बनाई गई दोनों पक्षों की ओर से केवल 30 व्यक्ति शामिल हुए और खाने में साधारण भोजन खिलाया गया इस प्रकार के विवाह की समाज को वर्तमान समय में बहुत ज्यादा आवश्यकता है

 

वर वधु ने आज के युवा पीढ़ी को संदेश दिया कि हमारे शिक्षित होने का कोई फायदा नहीं अगर हम समाज में फैल रही कुरीतियों का विरोध नहीं करते है। साथ ही साथ संत रामपाल जी महाराज द्वारा लिखी अनमोल पुस्तक जीने की राह को पढ़ने का संदेश दिया ताकि समाज से हर प्रकार की कुरूतियों का अंत हो जाए तथा हर बहन बेटी अपना सुखमय जीवन जीये।

Review दहेज मुक्त भारत – खुशहाल भारत.

Your email address will not be published. Required fields are marked *