देश के किसान प्रधानमंत्री मोदी पर विश्वास नहीं करते: राहुल

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने किसान संगठनों और सरकार के बीच नए दौर की बातचीत की पृष्ठभूमि में बुधवार को आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर देश के किसान विश्वास नहीं करते।

राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री के पूर्व के कुछ बयानों का हवाला देते हुए ट्वीट किया, ‘‘हर बैंक खाते में 15 लाख रुपये और हर साल दो करोड़ नौकरियां। 50 दिन दीजिए, नहीं तो.. हम कोरोना वायरस के खिलाफ 21 दिनों में युद्ध जीतेंगे। न तो कोई हमारी सीमा में घुसा है और न किसी चौकी पर कब्जा किया है।’’

कांग्रेस नेता ने आरोप लगाया, ‘‘मोदी जी के ‘असत्याग्रह’ के लंबे इतिहास के कारण उन पर किसान विश्वास नहीं करते।’’

उन्होंने ट्विटर पर ऑनलाइन सव्रेक्षण के लिए एक प्रश्न भी पोस्ट किया और जवाब के लिए चार विकल्प दिए। राहुल गांधी ने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री कृषि कानूनों को निरस्त करने से इनकार कर रहे क्योंकि: वह किसान विरोधी हैं, उनको पूंजीपति चलाते हैं, अहंकारी हैं या फिर इनमें सभी (विकल्प) सही है।’’

गौरतलब है कि दिल्ली की विभिन्न सीमाओं पर अलग-अलग राज्यों के किसान पिछले एक महीने से अधिक समय से प्रदर्शन कर रहे हैं। वे केंद्र सरकार से तीन नए कृषि कानूनों को वापस लेने और न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) की गारंटी देने की मांग कर रहे हैं।

इस बीच, गतिरोध को समाप्त करने के लिये केंद्र और किसान संगठनों के बीच बुधवार को छठे दौर की वार्ता चल रही है। इससे पहले की पांच दौर की वार्ता में गतिरोध खत्म करने में सफलता नहीं मिल पाई थी।

केंद्र सरकार जहां इन नए कृषि कानूनों को बड़े सुधार के तौर पर पेश कर रही है, वहीं किसानों को आशंका है कि इससे मंडी और एमएसपी की व्यवस्था समाप्त हो जाएगी।

Review देश के किसान प्रधानमंत्री मोदी पर विश्वास नहीं करते: राहुल.

Your email address will not be published. Required fields are marked *