नवोदयन हवलदार निशान सिंह की लखनऊ में इलाज के दौरान मौत,तीन साल पहले कुपवाड़ा की बर्फबारी में जम गई थी दिमाग की नसें

फाइल फोटो

 

NH Desk , Lucknow

आगरा के बाह अंतर्गत विक्रमपुर गांव के निवासी 40 वर्षीय हवलदार निशान सिंह की ब्रेन हेमरेज के इलाज के दौरान ऑपरेशन के समय मौत हो गई।

हवलदार निशान सिंह को तीन वर्ष पहले जम्मू कश्मीर के कुपवाड़ा में तैनाती के दौरान बर्फीले तूफान आ जाने से उनकी दिमाग की नसों का खून जम गया था। 

दिल्ली के आर आर हॉस्पिटल में काफी समय तक उनका इलाज होने के बाद वह ठीक हो गए थे और उन्हें लखनऊ में तैनाती दी गई थी।

लगभग 15 दिन पूर्व ब्रेन हेमरेज होने पर उन्हें एम एच हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था।

ऑपरेशन के बाद बीते शुक्रवार को वह चिरनिद्रा में चले गये।

शहीद निशान सिंह अपने पीछे पत्नी रेखा देवी, पुत्र मनीष व पुत्री पल्लवी को छोड़ गए।

फाइल फोटो

उनके पिता सुदान सिंह भी फौज में सूबेदार थे।उनके छोटे भाई सुरेश सिंह ने बताया कि आज पूरे सैनिक सम्मान के साथ उनके पैतृक गांव विक्रमपुर में  अंत्येष्टि संस्कार किया गया।

दुःख की इस घड़ी में नवोदयन्स हाईट्स परिवार शाहिद भाई हवलदार सिंह के साथ है।

शहीद हवलदार सिंह जी जवाहर नवोदय विद्यालय आगरा के 1997 बैच के पूर्व छात्र थे।

 

 

 

 

Review नवोदयन हवलदार निशान सिंह की लखनऊ में इलाज के दौरान मौत,तीन साल पहले कुपवाड़ा की बर्फबारी में जम गई थी दिमाग की नसें.

Your email address will not be published. Required fields are marked *