मनरेगा के तहत 5 साल में झारखण्ड में बने 3347 आंगनबाड़ी केंद्र

NH DESK, JHARKHAND

राज्य में 1712 आँगनबाड़ी केंद्र के भवन हैं निर्माणाधीन।

सांसद संजय सेठ के सवाल पर केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्री का जवाब।

राँची। वर्तमान समय में झारखण्ड में महात्मा गांधी नरेगा योजना के तहत 1712 आंगनबाड़ी केंद्रों के भवनों का निर्माण कार्य चल रहा है, जिसमें राँची में 22 भवन निर्माणाधीन है। उक्त आशय की जानकारी केंद्रीय ग्रामीण विकास राज्य मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति ने लोकसभा में अतारांकित प्रश्न के उत्तर में दी। राँची के सांसद श्री संजय सेठ ने यह सवाल पूछा था कि मनरेगा के तहत आंगनबाड़ी केंद्रों के भवन निर्माण की अनुमति सरकार देती है क्या? बीते 5 वर्ष और वर्तमान चालू वर्ष में झारखंड राज्य में मनरेगा के तहत कितने आंगनबाड़ी केंद्रों का निर्माण किया गया है? इस पर सरकार की क्या योजना है? इसके जवाब में केंद्रीय ग्रामीण विकास राज्य मंत्री ने कहा कि मनरेगा के तहत आंगनबाड़ी केंद्रों के लिए भवन निर्माण का कार्य किया जाता है और इसके तहत झारखण्ड में भी जमीनी स्तर की आयोजना व अन्य कार्यक्रम को लेकर आंगनबाड़ी केंद्रों का भवन निर्माण कार्य चल रहा है। वर्ष 2016-17 से लेकर 2020-21 तक 3347 भवनों का निर्माण झारखण्ड में किया जा चुका है, इनमें राँची लोकसभा क्षेत्र में 128 भवन शामिल हैं। वहीं 22 जुलाई 2021 तक की स्थिति में झारखंड में 1712 आंगनबाड़ी केंद्र के भवनों का निर्माण कार्य चल रहा है, जिसमें राँची लोकसभा क्षेत्र के राँची जिले में 22 व सरायकेला-खरसावां जिले में 92 भवन शामिल हैं। मनरेगा के तहत सबसे अधिक आंगनबाड़ी केंद्र के भवनों का निर्माण साहिबगंज जिले में हो रहा है। वहां 138 भवनों का निर्माण हो रहा है जबकि सबसे कम गुमला जिले में सिर्फ 9 भवनों का निर्माण हो रहा है। मंत्री ने बताया कि समय और परिस्थिति के अनुसार, क्षेत्र की जरूरतों के अनुसार इसमें समय के साथ बढ़ोतरी भी की जा सकती है।

Review मनरेगा के तहत 5 साल में झारखण्ड में बने 3347 आंगनबाड़ी केंद्र.

Your email address will not be published. Required fields are marked *