राब्ता ने ऑनलाइन आयोजित किया जश्न ए आजादी कार्यक्रम

– Yashawant, Gorakhpur

स्वतंत्रता दिवस की संध्या पर सांस्कृतिक समूह राब्ता के द्वारा जश्न ए आजादी का कार्यक्रम ऑनलाइन आयोजित कराया गया. कार्यक्रम की अध्यक्षता युवा कवि विकास विप्लव ने की. जिसका प्रसारण फेसबुक लाइव के माध्यम से हो रहा था, पूरे देश भर से लगभग 3700 दर्शकों ने कार्यक्रम का आनंद लिया. कार्यक्रम की शुरुआत उमेश सुशील के देशभक्ति गानों से हुआ. वही हिंदी-भोजपुरी के नवोदित युवा शायर यशस्वी यशवंत ने अपनी कविता ‘आजादी के माने का हs….‘ के माध्यम से आजाद हिंदुस्तान की विडंबनाओं का एक चित्र खींच दिया. वही युवा गायिका श्रुति चौरसिया ने फिल्मी तथा देशभक्ति गानों से लोगों का खूब मनोरंजन किया.

राब्ता के ऑनलाइन कार्यक्रम का दृश्य

गोपालगंज बिहार से जुड़े युवा शायर नूरैन अंसारी ने ‘काश मेरी जिंदगी में ऐसा मुकाम आ जाए/शहीदों की कतारों में मेरा भी नाम आ जाए/……’ गज़ल पढ़कर एक अलग ही उत्साह का संचार किया. वही मासूम रजा के शेर ‘काम कर ऐसा यहाँ कोई नही भूखा रहे/ बस तिरंगा ही नही हर शख्स भी ऊँचा रहे/’ पर खूब वाहवाही हुई. कार्यक्रम के अंत में अध्यक्षता कर रहे विकास विप्लव ने राब्ता की ओर से  सभी दर्शकों को स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाएं दी और अपने देश प्रेम की रचनाओं से कार्यक्रम के अंत को और खुशनुमा बना दिया। मंच संचालन मासूम रज़ा शम्स ने किया।

Review राब्ता ने ऑनलाइन आयोजित किया जश्न ए आजादी कार्यक्रम.

Your email address will not be published. Required fields are marked *