शिशु ने जीत लिया कोरोना से जंग

-NH Desk, Yashashwi Yashwant

गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में 15 दिन के इलाज के बाद आखिरकार आज तीमाह के बच्चे ने कोरोना के जंग में जीत पा लिया। बच्चे और उसके मां को हॉस्पिटल के डॉक्टरों और अन्य स्टाफ ने ताली बजाकर विदा किया। परिजनों ने मेडिकल स्टाफ्स को धन्यवाद कहा।

क्या है पूरा मामला

पिछले दिनों बस्ती के एक युवक को मौत के बाद रिपोर्ट में कोरोना पोजिटिव पाया गया। इसके बाद प्रशासन ने उसके शवयात्रा में शामिल सभी लोगों का सैंपल लेकर जांच के लिए भेज दिया। अबतक इनमें से 19 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। जिनमें एक तीन माह का बच्चा और उसके माता-पिता भी थे। इस खबर ने सबके होश उड़ा दिए, प्रशासन ने तुरंत बच्चे को गोरखपुर मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया। जहां डॉक्टरों के विशेष निगरानी में 15 दिनों तक बच्चे को रखा गया था। इसके बाद आज उसे उसके परिजनों को बुलाकर डिस्चार्ज कर दिया गया है। इस बात की जानकारी गोरखपुर के जिलाधिकारी महोदय ने ट्विटर के माध्यम से दिया।

लॉकडाउन के प्रथम चरण में गोरखपुर कोरोना के मामलों से पूरी तरह अछूता रहा। जिले में कई लोगों को ट्रेवल हिस्ट्री के आधार क्वारंटाइन किया गया, लेकिन जांच के बाद सारे रिपोर्ट निगेटिव आए। इसके बाद दूसरे चरण में गोरखपुर इस रिकॉर्ड को कायम रखने की कोशिश में था, इसी बीच कल शाम सात बजे जिले में पहला पॉजिटिव केस मिला। ज्ञात हो कि मरीज जो 49 वर्षीय बताया जा रहा है, पिछले दिनों दिल्ली से गोरखपुर आया था। हॉस्पिटल के अनुसार मरीज उरूवा के हाटा बुजुर्ग का रहने वाला है। उसके सीने में दर्द और सांस फुलने की शिकायत मिली थी जिसके बाद उसे एडमिट किया गया था।

इसके बाद उसके परिजनों को भी देर रात क्वारंटाइन कर दिया गया। मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य के मुताबिक पॉजिटिव शख्स का सुगर और बीपी का इलाज सफदरजंग अस्पताल में चल रहा था। वहां कोरोना के पॉजिटिव मरीजों की संख्या ज्यादा होने के कारण वह गांव आ गया था।

Review शिशु ने जीत लिया कोरोना से जंग.

Your email address will not be published. Required fields are marked *