शैलचित्रों के संरक्षण के लिए रखा उपवास

विश्व आदिवासी दिवस के दूसरे दिन मंगलवार को बिजावर जिला छतरपुर ,मध्यप्रदेश  के हथनीटोर मे लोकोत्सव और प्रकृति चिंतन कार्यक्रम का समापन किया गया ।
इसमे बकस्वाहा के जंगल को बचाने और पाषाणकालीन शैलचित्रों को संरक्षण किए जाने की मांग की गई बुलंद ।आदिवासी समाज और पर्यावरण प्रमियो ने एक दिन का उपवास रखा। कार्यक्रम मे आयोजन के मार्गदर्शक अमित भटनागर ,शरद कुमरे के साथ दिल्ली से आए अंतरराष्ट्रीय वेट लिफ्टिंग खिलाड़ी बलजीत, चंदन यादव बिहार ,सुनीता यादव, सुनीता कलमे धार ,वीनू बघेल इन्दौर ,आयूष रावत धार ,बहादुर आदिवासी हथनाई ,रामप्रसाद कोदर अमरापुर ,देवेंद्र आदि वासी कसार, सुन्दर आदि वासी हिम्मतपुरा ,अखिलेश आदिवासी कसार, दुलीचंद आदिवासी कुपिया ,सिब्बन आदिवासी बिला ,परमलाल आदिवासी बसुधा सहभागी रहे ।

Review शैलचित्रों के संरक्षण के लिए रखा उपवास.

Your email address will not be published. Required fields are marked *