लोहिया विश्विद्यालय के हॉफ मैराथन में मुजफ्फरपुर की रूबी ने बाजी मारी

डॉ0 राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय के क्रीड़ा परिषद एवं उत्तर प्रदेश एथलेटिक्स एसोसिएशन के संयुक्त तत्वावधान में चतुर्थ अयोध्या हाफ मैराथन-2021 का आयोजन किया गया। 21 मिलोमीटर की इस मैराथन में लगभग एक हजार से अधिक प्रतिभागियों ने प्रतिभाग किया। जिसमें पुरस्कारों के तहत महिला वर्ग में प्रथम पुरस्कार 25 हजार का मुजफ्फरपुर की रूबी कश्यप को मिला, 21 हजार का द्वितीय पुरस्कार रेनू अमरोहा को, तृतीय पुरस्कार 15 हजार का अर्पिता सैनी मुजफरपुर को मिला, चतुर्थ पुरस्कार 11 हजार का तामसी वाराणसी एवं पंचम पुरस्कार सात हजार का विनीता गुर्जर बरेली को मिला। वहीं पुरूष वर्ग में 25 हजार का प्रथम पुरस्कार इलाहाबाद के श्याम को दिया गया। द्वितीय पुरस्कार 21 हजार का वीणू कुमार मेरठ को, तृतीय पुरस्कार 15 हजार का सुनील कुमार हरियाणा को दिया गया। अयोध्या के हरिओम तिवारी को चतुर्थ पुरस्कार 11 हजार से एवं पंचम पुरस्कार अशोक पाल हरियाण को सात हजार से पुरस्कृत किया गया। पांच अन्य पुरूष एवं महिला वर्ग के प्रतिभागियों को एक-एक हजार रूपयें का सांत्वना पुरस्कार जिसमें सपना, निशा, किरन, प्रीति, नीता, जाॅनी कुमार, संतोष कुमार, विशाल, धमेन्द्र मनोज पाल को दिया गया।


मैराथन प्रतियोगिता का शुभारम्भ मुख्य अतिथि ओलम्पियन, अर्जुन अवार्डी एवं निदेशक, खेल उत्तर प्रदेश के डाॅ0 आर0पी0 सिंह एवं अवध विवि के कुलपति प्रो0 रविशंकर सिंह, विशिष्ट अतिथि के रूप में द्रोणाचार्य अवार्डी जे0एस0 भाटिया, अर्जुन अवार्डी एथलेटिक्स गुलाब चन्द्र, निदेशक क्रीड़ा भारती अवध प्रांत अवनीश सिंह, पीईएफआई के जनरल सेक्रेट्री पीयूष जैन, ब्रिगेडियर डोगरा रेजीमेंट जे0के0 एस0 व्रिक, कुलसचिव उमानाथ, वित्त अधिकारी धनजंय सिंह, मुख्य नियंता प्रो0 अजय प्रताप सिंह, प्रो0 जसवंत सिंह, प्रो0 एसएस मिश्र, प्रो0 शैलेन्द्र वर्मा ,आनन्द पाण्डेय, एसके यादव सहित अन्य अतिथियों ने नारियल फोड़कर, फीता काटकर एवं फ्लैग आॅफ करके किया।

प्रतियोगिता विश्वविद्यालय परिसर से सुबह 7 बजे से मुख्य परिसर से प्रारम्भ होकर नाका बाईपास होते हुए मकबरा ओवरब्रिज से उतरकर पुष्पराज चैराहे से बायें कृष्णा पैलेस, होते हुए कचेहरी, डीएम आवास, सहादतगंज हनुमानगढ़ी से कैण्ट की तरफ बढते हुए निर्मुली कुंड तिराहा होते हुए आर्मी स्कूल से आर्मी मन्दिर की ओर बढ़ी। आर्मी मन्दिर से सदर चैराहे, कनौसा स्कूल से नियांवा, अंगूरी बाग, गुदड़ी बाजार, फाब्र्स इण्टर कालेज होते हुए देवा हाॅस्पिटल ओवरब्रिज पार करते हुए देवकाली ओवरब्रिज के नीचे से एनएच-27 लखनऊ अयोध्या मार्ग पर प्रतिभागी बढ़ते हुए कुलपति आवास के सामने होते हुए बाये मुड़कर विश्वविद्यालय सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र से होकर गंजा रोड पर दीक्षा भवन के गेट से प्रवेश होते हुए वापस मुख्य परिसर के सेंट्रल बैंक से समापन स्थल पर मैराथन प्रतियोगिता समाप्त हुई। प्रतियोगिता के समापन पर मुख्य अतिथि डाॅ0 आर0 पी0 सिंह ने कहा कि आज विश्व में सबसे ज्यादा युवा भारत में है। प्रदेश में देखा जाये युवाओं की संख्या सबसे अधिक अपने प्रदेश में है। विश्वविद्यालय द्वारा इस तरह का आयोजन एक अच्छी पहल है। उन्होंने युवाओं को संबोधित करते हुए कहा कि मैराथन का उद्देश्य खिलाड़ियों में खेल में खेल की भावना का विकास करना है। सर्वागींण भावना का विकास चाहते है तो खिलाड़ी बने। इस मैराथन से खिलाड़ी अपनी प्रतिभा से परिचित होते है। प्रधानमंत्री के फिट इंण्डिया मुहिम में इस प्रकार का मैराथन विश्वविद्यालय द्वारा एक महत्वूपर्ण योगदान है।


विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो0 रविशंकर सिंह ने खिलाड़ियों को संबोधित करते हुए कहा कि किसी भी प्रतियोगिता में हार जीत होती रहती है। हार से सबक लेना चाहिए। निरन्तर प्रयास करते रहे। एक दिन ऐसा समय आयेगा कि आप सफलता की सीढ़ी पर चढ़ सकेंगे। कुलपति प्रो0 सिंह ने इस मैराथन में आये हुए अतिथियों, आयोजक मंडल, विश्वविद्यालय परिवार एवं खिलाड़ियों के प्रति आभार व्यक्त करते हुए सभी को शुभकामनाएं दी। ब्रिगेडियर डोगरा रेजीमेंट जे0के0 एस0 व्रिक ने कहा कि दुनियां के सबसे युवा देश भारत में स्पोर्टस सबसे अच्छी बात है। बच्चों में खेल के प्रति मजबूत धारणा बने। यही खिलाड़ी हमारे देश का प्रतिनिधित्व करते है एवं उसका मान बढ़ाते है। खिलाड़ियों को प्रोत्साहित करते हुए निदेशक क्रीड़ा भारती अवध प्रांत अवनीश सिंह ने कहा कि खेल से चरित्र का निर्माण होता है और चरित्र से राष्ट्र का निर्माण होता है। इस तरह के कार्यक्रम खिलाड़ियों में नई ऊर्जा का संचार करते है। अर्जुन अवार्डी एथलेटिक्स गुलाब चन्द्र ने कहा कि खेल का कोई जाति धर्म नही होता। इसमें सभी प्रतिभागी इन सबसे ऊपर उठकर खेल की भावना के साथ खेलते है।


प्रतियोगिता की शुरूआत में डोगरा रेजीमेंट की बैंड पार्टी द्वारा राष्ट्रीय धुन एवं समापन पर राष्ट्रगान की प्रस्तुति की गई। कार्यक्रम में अतिथियों एवं प्रतियोगिता के निर्णायकों एवं सदस्यों को स्मृति चिन्ह एवं पुष्पगुच्छ से सम्मानित किया। आये हुए अतिथियों के प्रति धन्यवाद ज्ञापन आयोजन सचिव डाॅ0 मुकेश कुमार वर्मा द्वारा किया। उन्होंने इस आयोजन के लिए विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो0 रविशंकर सिंह, अधिकारियों, शिक्षकों, स्वयंसेवकों एवं छात्र-छात्राओं के प्रति विशेष आभार व्यक्त किया। कार्यक्रम का कुशल संचालन इंजीनियर मनीषा यादव एवं डाॅ0 निखिल उपाध्याय द्वारा किया गया। प्रतियोगिता के दौरान प्रो0 नीलम पाठक, प्रो0 आर0के तिवारी, प्रो0 राजीव गौण, प्रो0 आशुतोष सिन्हा, प्रो0 के0के0 वर्मा, प्रो0 सिद्धार्थ शुक्ल, प्रो0 एसके रायजादा, प्रो0 आर0के सिंह, प्रो0 तुहिना वर्मा, प्रो0 शैलन्द्र कुमार, प्रो0 अनूप कुमार, प्रो0 रमापति मिश्र, प्रो0 विनोद श्रीवास्तव, डाॅ0 विनोद चैधरी, डाॅ0 अभिषेक कुमार सिंह, डाॅ0 विजयेन्दु चतुर्वेदी, डाॅ0 शशि सिंह, डाॅ0 अनिल कुमार, डाॅ0 राजेश सिंह कुशवाहा, इजीनियर अवधेश कुमार यादव, डाॅ0 प्रवीण राय, डाॅ0 रामायण, डाॅ0 आरएन पाण्डेय, डाॅ0 सघर्ष सिंह, डाॅ0 नीलम सिंह, डाॅ0 प्रतिभा त्रिपाठी, डाॅ0 आशीष पटेल, डाॅ0 अनिल विश्वा, डाॅ0 दिनेश सिंह, देवेन्द्र वर्मा, स्वाति उपाध्याय, इजीनियर रमेश मिश्र सहित बड़ी संख्या में शिक्षक, कर्मचारी एवं प्रतिभागी उपस्थित रहे।

Review लोहिया विश्विद्यालय के हॉफ मैराथन में मुजफ्फरपुर की रूबी ने बाजी मारी.

Your email address will not be published. Required fields are marked *