नेपाल पुलिस की गोलाबारी से एक भारतीय की मौत

(भाषा) उत्तर प्रदेश में पीलीभीत जिले की सीमा से लगने वाले नेपाल के कंचनपुर इलाके में बृहस्पतिवार को मेला घूमने गये तीन भारतीयों पर नेपाल पुलिस की कथित गोलीबारी के बाद इलाज के दौरान उनमें से एक युवक की मौत हो गयी।

उक्त घटना की जानकारी देते हुए पुलिस ने बताया कि घटना के बाद सीमा पर तनाव के मद्देनजर आसपास के थानों को सतर्क किया गया है। पीलीभीत के जिलाधिकारी पुलकित खरे और पुलिस अधीक्षक जयप्रकाश ने घटनास्थल का निरीक्षण कर युवक का शव घर लाने के लिए नेपाली अधिकारियों से संपर्क किया है।

पुलिस अधीक्षक जय प्रकाश यादव ने शुक्रवार को बताया कि युवक का शव अभी भी नेपाल पुलिस के कब्जे में ही है। नेपाल पुलिस ने युवकों पर तस्करी का आरोप लगाते हुए गोली चलाने की बात कही है। घटना की सूचना मिलने के बाद पीलीभीत पुलिस सीमा पर तैनात की गई है।

यादव ने बताया कि हजारा थाना क्षेत्र के भूमिदान राघवपुरी टिल्ला चार गांव के रहने वाले गोविंद सिंह, गुरमीत सिंह और पप्पू सिंह नेपाल के कंचनपुर में लगने वाले मेले में गए थे। वहीं नेपाल पुलिस ने तीनों की घेराबंदी कर उन पर गोलियां चलायीं।

उन्होंने बताया कि इस गोलीबारी में गोविंद सिंह गंभीर रूप से घायल हो गया। उन्होंने बताया कि नेपाल के एक प्राथमिक अस्पताल में इलाज के दौरान सिंह (24) की मौत हो गयी।

यादव ने बताया कि गुरमीत सिंह के बारे में कोई सटीक जानकारी नहीं मिल पा रही है।

उन्होंने बताया कि वहीं घटना में गंभीर रूप से घायल पप्पू सिंह खुद से भागकर भारतीय सीमा में आया। उसे पहले लखीमपुर खीरी जिले के पलिया अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां से उसे शुक्रवार को इलाज के लिए लखनऊ अस्पताल रेफर कर दिया गया।

उन्होंने बताया कि सीमा पर फिलहाल शांति है, फिर भी एहतियात के तौर पर पुलिस बल तैनात किया गया है। नेपाल पुलिस के अधिकारियों से संपर्क में हैं और जो भी तथ्य सामने आएंगे उसके अनुसार कार्रवाई की जाएगी। इस घटना के सम्बन्ध में मृतक के परिजनों से मिलकर सही तथ्यात्मक जानकारी जुटाई जा रही है।

एसपी ने कहा कि शव सौंपने के लिए नेपाली अधिकारियों से संपर्क किया गया है और उनके साथ बैठकें की जा रही हैं। हालांकि नेपाली अधिकारी इसे तस्करी का मामला करार दे रहे हैं लेकिन स्थानीय लोगों का कहना है कि मामूली बहस के बाद गोलीबारी हुई।

Review नेपाल पुलिस की गोलाबारी से एक भारतीय की मौत.

Your email address will not be published. Required fields are marked *