मेयर की टिप्पणी से नाराज आरएमसी के अधिकारियों ने मुख्यमंत्री के सचिव से की मुलाकात सौंपा ज्ञापन

NH DESK-JHARKHAND

सिटी रिपोर्टर: जितेंद्र कुमार

रांची : रांची नगर निगम की मेयर आशा लकड़ा द्वारा कथित रूप से निगम के अधिकारियों और कर्मचारियों के खिलाफ की गई विवादित टिप्पणी का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। रांची नगर निगम के अधिकारी और कर्मचारियों ने शनिवार को मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के प्रधान सचिव विनय चौबे से मुलाकात कर उन्हें अपना दर्द सुनाया। साथ ही ज्ञापन सौंपकर मेयर के कथित अमर्यादित बयान की शिकायत की है।

अधिकारियों ने विनय चौबे से कार्रवाई की भी मांग की है। साथ ही नगर निगम में अधिकारियों और कर्मचारियों ने विरोध स्वरूप काली पट्टी लगाकर काम किया। गौरतलब है कि आशा लकड़ा ने कुछ दिन पहले राजधानी की सफाई से संबंधित समीक्षा के लिए बैठक बुलाई थी। इस बैठक में कोई भी अधिकारी नहीं पहुंचा था। नगर आयुक्त मुकेश कुमार का कहना है कि उनका अधिकारियों के साथ नगर की योजनाओं के फील्ड विजिट का पूर्व निर्धारित कार्यक्रम था। इसीलिए वह लोग मीटिग में नहीं पहुंच सके थे।

अधिकारियों और कर्मचारियों के मीटिग में नहीं पहुंचने के वाकये के बाद मेयर ने कुछ बयान दिया था। इसे निगम के अधिकारी अमर्यादित कह रहे हैं। उनका कहना है कि इससे वह आहत हुए हैं। वह लोग नगर निगम का काम मन लगाकर करते हैं। राजधानी में नागरिक सुविधाओं के स्तर को ऊंचा करने में लगातार जुटे रहते हैं। इसके बावजूद उन पर अमर्यादित टिप्पणी की गई जो गलत है। गौरतलब है कि नगर निगम के अधिकारियों और कर्मचारियों ने गुरुवार को नगर निगम में हड़ताल कर दी थी और कामकाज से दूर रहे थे।

अधिकारियों ने पहले ही नगर आयुक्त को ज्ञापन सौंपकर मेयर आशा लकड़ा पर कार्रवाई की मांग की थी। अधिकारियों और कर्मचारियों की मांग है कि मेयर इस्तीफा दें और अधिकारियों व कर्मचारियों से माफी मांगें। ज्ञापन सौंपने वालों में उप नगर आयुक्त कुंवर सिंह पाहन, उप नगर आयुक्त रजनीश कुमार, मुख्य अभियंता राजदेव सिंह, सहायक नगर आयुक्त ज्योति कुमार, सहायक नगर आयुक्त शीतल कुमारी, नगर निवेशक अरुण कुमार व श्रीकांत सिन्हा आदि मौजूद थे।

काली पट्टी लगाकर काम कर रहे कर्मचारी

मेयर की टिप्पणी के विरोध में नगर निगम के अधिकारी और कर्मचारी आंदोलित हैं। शनिवार को सभी अधिकारियों और कर्मचारियों ने काला बिल्ला लगाकर काम किया। नगर निगम के अधिकारियों का कहना है कि जब तक मेयर पर कार्रवाई नहीं होती और मेयर माफी नहीं मांगती। तब तक उनका यह आंदोलन लगातार जारी रहेगा।

रांची नगर निगम के मुद्दे में कूदे माननीय

रांची नगर निगम में मेयर को लेकर चल रही खींचतान के बीच अब यह मुद्दा सियासी रुख अख्तियार करता जा रहा है। मेयर के बचाव में भाजपा के राज्यसभा सांसद महेश पोद्दार कूद गए हैं। उन्होंने गुरुवार को मेयर के पक्ष में 2 ट्वीट किए हैं। इन दोनों ट्वीट में उन्होंने कांग्रेस पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा है कि कांग्रेस पूरे देश में 73 व 74 वें संविधान संशोधन के जरिए स्थानीय निकायों को अधिकार देने का ढोल पीट रही है। तो दूसरी तरफ नगर निकाय के निर्वाचित जनप्रतिनिधियों के अधिकारों का हनन करने की फिराक में है।

हाईकोर्ट जाएंगी मेयर

गौरतलब है कि सरकार ने इस मुद्दे पर महाधिवक्ता का मंतव्य मांगा था। इसमें महाधिवक्ता ने कहा है कि मेयर व अन्य नगर निकायों के अध्यक्ष को बैठक बुलाने का अधिकार नहीं है और वह नगर आयुक्त को शोकाज नहीं कर सकतीं। मेयर ने इस मुद्दे पर हाईकोर्ट जाने की चेतावनी दी है। वह सोमवार को हाई कोर्ट जा सकती हैं।

Review मेयर की टिप्पणी से नाराज आरएमसी के अधिकारियों ने मुख्यमंत्री के सचिव से की मुलाकात सौंपा ज्ञापन.

Your email address will not be published. Required fields are marked *