पत्रकार पर जानलेवा हमला, दो मुख्य आरोपी गिरफ्तार

माउंट आबू नगर पालिका के नेता प्रतिपक्ष सुनील आचार्य पर सोमवार को हुए जानलेवा हमले के बाद मंगलवार को उनके एक पैर और एक हाथ का ऑपरेशन किया गया। करीब चार घंटे तक चले ऑपरेशन में उनके पैर में रॉड लगाई गई और उनके हाथ में सर्जरी कर स्क्रू से प्लेटिंग की गई है।

डॉक्टरों कहा कि ऑपरेशन के बाद आचार्य की स्थिति स्थिर बनी हुई है। आचार्य को ऑपरेशन के बाद ग्लोबल अस्पताल के आईसीयू में शिफ्ट किया गया है। आचार्य के स्वास्थ्य की जानकारी देते हुए डॉ. प्रताप मिड्ढा ने बताया कि ग्लोबल अस्पताल के डॉक्टरों ने आचार्य की सर्जरी की है और सर्जरी के बाद डॉक्टरों की टीम आचार्य के स्वास्थ्य पर नजर बनाए हुए है।

पुलिस ने इस मामले में दो आरोपियों का गिरफ्तार किया है। जिसमें मुख्य आरोपी राकेश अग्रवाल उर्फ बॉबी और एक अन्य आरोपी रामनिवास मेघवाल को गिरफ्तार किया गया है।

माउंट आबू सीओ योगेश अग्रवाल ने बताया कि इस मामले में दो आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद अन्य आरोपियों की तलाश की जा रही है। आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीमें संभावित ठिकानों पर दबिश दे रही है। उन्होंने उम्मीद जताई कि जल्द ही सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

सुनील आचार्य पर हुए हमले के बाद जिले की राजनीति गरमा गई है। मंगलवार को आबू-पिंडवाड़ा विधायक समाराम गरासिया और बीजेपी जिलाध्यक्ष नारायण पुरोहित सुनील आचार्य से मिलने पहुंचे और डॉक्टरों से उनका हालचाल जाना।

बीजेपी विधायक समाराम गरासिया ने प्रदेश सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि सिरोही समेत पूरे प्रदेश में कानून व्यवस्था की हालत खराब है। माउंट आबू जैसे शांत पर्यटक स्थल पर पालिका के नेता प्रतिपक्ष पर जानलेवा हमला हो जाना ना सिर्फ शर्मनाक बल्कि निंदनीय है।

उन्होंने कहा कि हमले के बाद कुछ ही दूरी पर स्थित थाने से पुलिस मौके पर नहीं पहुंच पाई कानून व्यवस्था पर इससे बड़ा धब्बा कुछ नहीं हो सकता। उधर माउंट आबू के पत्रकारों और पत्रकारों के संगठन जार ने आबू एसडीएम अभिषेक सुराणा को ज्ञापन देकर सभी आरोपियों की गिरफ्तारी और न्यायपूर्ण अनुसंधान की मांग उठाई है।

Review पत्रकार पर जानलेवा हमला, दो मुख्य आरोपी गिरफ्तार.

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Spread the love