इथियोपिया ने संयुक्त राष्ट्र के कर्मियों को हिरासत में लिया

इथियोपिया की राजधानी में संयुक्त राष्ट्र के 16 स्थानीय कर्मचारियों को हिरासत में लिया गया है।

संयुक्त राष्ट्र और एक सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि कर्मचारियों को देश में आपातकाल में ‘‘आतंकवादी गतिविधि में शामिल होने’’ के आरोप में हिरासत में लिया गया है। देश में साल भर से चल रहा युद्ध और तेज हो रहा है और टिगरे समुदाय के लोगों की गिरफ्तारी की मुहिम तेज हो गई है।

एक मानवाधिकार कार्यकर्ता ने नाम नहीं जाहिर करने की शर्त पर बताया कि हिरासत में लिए गए सभी कर्मचारी टिगरे समुदाय से हैं।

संयुक्त राष्ट्र के प्रवक्ता स्टीफन दुजारिक ने मंगलवार को कहा कि संयुक्त राष्ट्र को कर्मचारियों को नजरबंद किए जाने का कोई कारण नहीं बताया गया, लेकिन अदीस अबाबा में आपातकाल घोषित होने के बाद से बड़े पैमाने पर वकीलों सहित टिगरे समुदाय के लोगों को नजरबंद किए जाने की उसे सूचना मिली है।

दुजारिक ने संवाददाताओं से कहा कि संयुक्त राष्ट्र के मानवीय प्रमुख की इथियोपिया की यात्रा के दौरान भी कुछ को हिरासत में लिया गया था।

दुजारिक ने कहा कि हिरासत में लिए गए अन्य छह कर्मियों को बाद में रिहा कर दिया गया। कई कर्मचारियों के आश्रितों को भी हिरासत में लिया गया।

संयुक्त राष्ट्र ने इथियोपिया के विदेश मंत्रालय से हिरासत में लिए गए लोगों को तत्काल रिहा करने के लिए कहा है। सरकार के प्रवक्ता लेगेसी तुलु ने एक संदेश में बिना कोई विवरण दिए बताया कि ‘‘गलत कामों और आतंकवादी कृत्य में भागीदारी के कारण’’ उन्हें हिरासत में लिया गया। उन्होंने कहा कि इसका ‘‘उनके कार्यालय और कार्य से कोई संबंध नहीं है।’’

सरकारी प्रवक्ता के बयान पर दुजारिक ने कहा, ‘‘हमारे पास इस संबंध में और कोई जानकारी नहीं है।’’ इथियोपिया की सरकार ने कहा है कि वह प्रतिद्वंद्वी टिगरे बलों का समर्थन करने के संदेह में लोगों को हिरासत में ले रही है जो पिछले एक साल से सरकार के खिलाफ लड़ रहे हैं।

अमेरिका में विदेश विभाग के प्रवक्ता नेड प्राइस ने संवाददाताओं से कहा कि ‘‘अगर यह रिपोर्ट सही है तो जातीयता के आधार पर लोगों की हिरासत बिल्कुल अस्वीकार्य है।’’

Review इथियोपिया ने संयुक्त राष्ट्र के कर्मियों को हिरासत में लिया.

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Spread the love