JHARKHAND: चार साल में नगर निकायों का बढ़ा राजस्व संग्रहण, ऑनलाइन कलेक्शन भी एक साल में 110 करोड़ पहुंचा

NH DESK-JHARKHAND

NEWS BY -JITENDRA KUMAR

Ranchi: झारखंड में पिछले चार साल में नगर निकायों का राजस्व कलेक्शन बढ़ गया है. इसके साथ ही हाउसहोल्ड ने भी चार लाख से बढ़कर आठ लाख तक पहुंच कर दोगुना वृद्धि दर्ज की है जिनसे राजस्व कलेक्शन किया जा रहा है. नये करदाताओं को चिन्हित किया जा रहा है. फिजिकल वेरिफिकेशन का काम भी तेजी से किया जा रहा है. यह राजस्व वृद्धि तब हुई जब कोविड-19 के चलते सभी तरफ लॉकडाउन था और करदाताओं को डिले पेमेंट के चलते लगने वाले जुर्माने को माफ किया गया था.

इसके अलावा नौ नये नगर निकायों में अप्रैल 2021 से जून 2021 तक होल्डिंग टैक्स वसूलने में आम लोगों को माफी दी गयी थी.

इसके अलावा, कोरोना काल की इस अवधि में ऑनलाइन कलेक्शन भी बढ़ गया. वित्तीय वर्ष 2019-20 में जहां मात्र 7.12 करोड़ था, वह 2020-21 में 11.24 करोड़ पहुंचा और अभी 31 जुलाई को 11.10 करोड़ तक ऑनलाइन कलेक्शन हुआ. कुल 10 करोड़ अब तक ऑनलाइन माध्यम से राजस्व कलेक्शन किया जा चुका है.

बता दें कि राज्य सरकार ने ऑनलाइन पेमेंट को बढ़ावा देने के लिए अभियान चलाया था और ऑनलाइन पेमेंट करने वाले करदाताओं को पांच प्रतिशत कर में छूट भी मिल रही है.

किये गये जागरुकता के प्रयास

राज्य सरकार ने राजस्व संग्रहण बढ़ाने के लिए कई तरह के प्रयास सभी नगर निकायों में प्रारंभ किये. इसके तहत आईसी विशेषज्ञ रखे गये. नुक्कड़ नाटक, माइकिंग, पपंलेट, होर्डिंग, मोबाइल एसएसएस के जरिये लोगों को कर, शुल्क आदि देने के लिए जागरूक किया गया.

इस तरह टैक्स कलेक्शन में हुई बढ़ोतरी

2016-17 में चार लाख हाउसहोल्ड था जो 31 जुलाई 2021 तक बढ़कर 8.05 लाख हो गया.

सभी नगर निकायों का राजस्व कलेक्शन 2016-17 से 177.15 करोड़ से 2020-21 तक बढ़कर 210.94 करोड़ तक पहुंच गया.

2016-17 में प्रॉपर्टी टैक्स कलेक्शन 73.96 करोड़ से बढ़कर 2020-21 में 124.90 करोड़ तक पहुंच गया.

कलेक्शन फॉर आउटसोर्स, जैसे होल्डिंग, वाटर, ट्रेड लाइसेंस का 2016-17 में 92.58 करोड़ था जो 2020-21 में 146.91 करोड़ और अगस्त 2021 तक 110.83 करोड़ रुपये का कलेक्शन आ चुका है.

 

Review JHARKHAND: चार साल में नगर निकायों का बढ़ा राजस्व संग्रहण, ऑनलाइन कलेक्शन भी एक साल में 110 करोड़ पहुंचा.

Your email address will not be published. Required fields are marked *