नक्सली कार्तिक महतो ने पुलिस के समक्ष किया आत्मसमर्पण

 

जिला संवाददाता- पवन कुमार वर्मा

गिरिडीह आतंक का पर्याय बने, 1 लाख इनामी नक्सली कार्तिक माहतो शुक्रवार को आत्मसमर्पण किया | कार्तिक माहतो खुखरा थाना क्षेत्र के जिलिगटाड बदगांव का निवासी है | पूछताछ से पता चला कि वह कुछ दिनों से कार्य में सक्रिय था सूत्रों के मुताबिक कार्तिक माहतो पारसनाथ की तराई क्षेत्र मैं सक्रिय था इस दौरान नुनुचद माहतो और अन्य बड़े नक्सलियों के साथ मिलकर उसने कई घटना को अंजाम दिया एवं मारक दस्ते का सदस्य भी था | लगभग दो दशक तक नक्सली संगठन मैं कार्य किया कार्तिक महतो जमीन विवाद के कारण नक्सली बना, और नक्सलियों के संगठन मैं मिलकर कार्य कर रहा था परंतु कुछ समय पहले नक्सली संगठन छोड़ दिया था और बाहर प्रदेश चेन्नई मजदूरी करने चला गया था परंतु कोरोना की वजह से पूरे भारत मैं लोकडाउन लगने के कारण घर लोटा | लौटने के बाद गांव वाले कार्तिक से बोले कि पुलिस तुम्हारे खोज में कई बार गांव आए थे | यह सुनकर कार्तिक माहतो ने पिरटाड थाना में जाकर आत्मसमर्पण किया | कार्तिक एनकाउंटर के डर से पुलिस के समक्ष हाथ में समर्पण किया | कई सालो से पुलिस के लिए चुनौती बने नक्सली के आत्मसमर्पण को पुलिस बड़ी कामयाबी मान रही है, कुछ लोगों द्वारा बताया जा रहा है कि माओवादी संगठन भंग हो जाने के कारण आत्मसमर्पण किया, कार्तिक महतो पर कई मुकदमा दायर है जसमें से पांच मुकदमे की पुष्टि हुई है| कार्तिक महतो से पुलिस पूछताछ कर रही है पूछताछ पूरी होने पर ही इससे अधिक बताया जा सकता है |

झारखंड राज्य के गिरिडीह जिला से पवन कुमार वर्मा का रिपोर्ट

Review नक्सली कार्तिक महतो ने पुलिस के समक्ष किया आत्मसमर्पण.

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Spread the love