अंत्येष्टि स्थल पर एक भी अंतिम संस्कार हुए बिना हुआ खंडहर

रामनगर के मानपुर मजरे गोबरहा में अंत्येष्टि स्थल संबंधित अधिकारियों की देखरेख के अभाव में हुआ खंडहर

रामनगर, बाराबंकी

रामनगर तहसील के गांव मानपुर मजरे गोबरहा,जो मीतपुर- लोधेश्वर महादेवा मार्ग के निकट बने अंत्येष्टि स्थल पर एक भी अंतिम संस्कार हुए बिना वह खंडहर।
प्रदेश सरकार की मंशा पर संबंधित अधिकारियों की उपेक्षा के चलते फिरा पानी।
ब्लाक रामनगर के मानपुर गांव के बाहर उत्तर की ओर बने अंत्येष्टि स्थल वर्ष 2015-16 में 13 लाख 64 हजार रुपए की लागत से बना था, इसमें दो तीन सेट और दो इंडिया मार्का हैंडपंप, दो कमरे ,शौचालय चारों और बाउंड्री वाल पश्चिम की ओर बढ़ा स्टील का गेट लगा था। गुरुवार को जागरण ने स्थल पर पहुंच कर देखा तो मौके पर स्टील का गेट व चारों और बाउंड्री वाल टीन शेट के ऊपर की कुछ टीन यह सभी गायब।
एक इंडिया मार्का हैंडपंप भी खराब है एक की हालत सही स्थल पर ग्रामीणों ने गोबर के उपले रखते, देखने पर लगता है कि इस सरकारी योजना के तहत बने अंत्येष्टि स्थल में धन का बंदरबाट कर कागजी कोरम पूरा किया गया है
5 वर्षों में बना अंत्येष्टि स्थल का नक्शा ही बदल जाए यह एक अपने आप में संबंधित अधिकारी की उपेक्षा को स्पष्ट करता है। ना ही ग्राम प्रधान व सचिव ही इस सरकारी योजना के तहत बने स्थल की सुरक्षा की जिम्मेदारी समझते तो आज यह खंडहर ना होता जबकि प्रदेश सरकार ने ग्राम पंचायत का यह जिम्मेदारी दे रखी है।
इतनी लागत से बने स्थल पर आज ग्रामीणों ने अतिक्रमण कर रखा है कोई पुआल रखता है तो कोई पिपरमेंट के लिए इंधन वहां के ग्रामीणों में शारदा लोध, सोनी सिंह, संजय, बबलू आदि लोगों ने कहा कि इस अंत्येष्टि स्थल में मानक के अनुरूप निर्माण कार्य नहीं कराया गया इस कारण इस स्थल की स्थिति जर्जर हो गई यहां गांव के बाहर बने होने के चलते अराजक तत्वों की शरण स्थली बना अंत्येष्टि स्थल यहां पर एक भी अंतिम संस्कार अभी तक नही हुऐ और इस स्थल खंडहर में तब्दील हो गया।
इस बाबत में रामनगर खंड विकास अधिकारी अमित त्रिपाठी ने बताया कि यह जिला पंचायत से बना था मुझे जानकारी नहीं है मैं दिखवा कर बताता हूं

Review अंत्येष्टि स्थल पर एक भी अंतिम संस्कार हुए बिना हुआ खंडहर.

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Spread the love