छठ पूजा की छठा चारों तरफ

NH DESK WEST BENGAL (10/11/2021, बुधवार)

(पांडेश्वर): छठ पूजा बिहार के पूजा ओं में एक अद्भुत पूजा होती है जिसमें भगवान भास्कर को पूजा जाता है और लोगों द्वारा डूबते हुए सूर्य को अर्ध देकर पूजा करते हैं और अगली सुबह उगते हुए सूर्य देवता की पूजा की जाती है इस उगते हुए सूर्य देवता को अर्द्ध दी जाती है इसके साथ साथ इस पूजा में सभी फल जो नवीनतम होते हैं वह चढ़ाए जाते हैं केला यह भी नवीनतम होता है जितने भी फल होते हैं वह सारे इसी समय में पैदा होते हैं उसी फलों को मां छठ को अर्पित किया जाता है |

आज बिहार यूपी से इस पूजा का दायरा लगभग भारत के कई राज्यों में पहुंच गया है लोगों का मानना है इस पूजा से लोगों की आस्था और उनकी मन्नते पूरी होती है इसमें औरतें 3 दिन व्रत रखती हैं यह व्रत 4 दिन पहले चालू हो जाता है इस व्रत में सबसे पहले नहाए खाए से इस पूजा की शुरुआत होती है। जिसमें डूबते हुए सूर्य देव को और उगते हुए सूर्य देव को पूजा जाता है जिसमें यह मान्यता है कि इस पूजा में लोगों के विश्वास और आस्था  सूर्य देव से कुछ विनती होती हैं जो छठ पूजा के रूप में अपने विनती को मांगते हैं और ऐसा करने पर इनके मन्नते पूरी होती है।


 इस पूजा को पूरे धूमधाम से चारों दिशाओं में मनाया जा रहा है खास करके यह पूजा उत्तर भारत यूपी और बिहार झारखंड में मुख्यतः मनाया जाता है लेकिन आज इस पूजा का दायरा बढ़ गया है बहुत ऐसे राज्य सरकारें हैं जो इस दिन अवकाश की घोषणा भी कर चुके हैं लोगों के बीच छठ पूजा की आस्था और विश्वास सूर्य देव का पूजा भास्कर की पूजा आज लोगों के लिए एक बहुत बड़ा आस्था और विश्वास हो गया।

सी कड़ी में पांडेश्वर ब्लॉक के बनकोड़ा तलबगान छठ पूजा कमेटी ने एक भव्य जागरण और भक्तों के लिए घाटों का निर्माण किया भक्तों को आने-जाने में असुविधा ना हो रास्तों की सफाई और लोगों के बीच और लोगों के आस्था को बनाए रखने के लिए वहां लाइटों की व्यवस्था रास्तों की साफ सफाई सारी व्यवस्था की गई थी इस व्यवस्था को पांडेश्वर विधानसभा के एमएलए नरेंद्र नाथ चक्रवर्ती ने भी देखा और वह घाट पर है जहां छठ मैया की पूजा की गई लोगों का अभिवादन किया लोगों को प्रणाम किया और बोले कि यह मेरा अपना घर है मैं यही का हूं इसलिए मेरा एक कर्तव्य है इस छठ घाट का साफ सफाई कार्यकर्ताओं ने और छठ पूजा कमेटी अच्छा काम किया है सभी को छठ पूजा की बधाई और अभिनंदन करता हूं।

 

Review छठ पूजा की छठा चारों तरफ.

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Spread the love