झारखंड के ओपेन यूनिवर्सिटी में जनजातीय भाषाओं की भी पढ़ाई, कुलपति व प्रोफेसर की शीघ्र होगी नियुक्ति

NH DESK-JHARKHAND

NEWS BY JITENDRA KUMAR

रांची, झारखंड में खुल रहे ओपन यूनिवर्सिटी में जनजातीय एवं क्षेत्रीय भाषाओं की भी दूरस्थ माध्यम से पढ़ाई होगी। झारखंड विधानसभा में गुरुवार को पारित विश्वविद्यालय की स्थापना से संबंधित विधेयक में इसका प्रविधान किया गया है। खुला विश्वविद्यालय में शुरू में 15 विभिन्न संकायों में पढ़ाई होगी, जिनमें जनजातीय एवं क्षेत्रीय भाषा के संकाय भी शामिल हैं। इसके अलावा मानविकी, सामाजिक विज्ञान, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, शिक्षा, सतत और विस्तार शिक्षा, व्यवसाय व प्रबंधन अध्ययन, स्वास्थ्य देखभाल अध्ययन, कंप्यूटर और सूचना विज्ञान, कृषि विज्ञान, पत्रकारिता और जनसंचार, पर्यटन और आतिथ्य सेवा प्रबंधन, व्यावसायिक शिक्षा और प्रशिक्षण, सामाजिक कार्य, स्कूल आफ जेंडर एंड डेवलपमेंट स्टडीज शामिल हैं।

झारखंड राज्य खुल विश्वविद्यालय का मुख्यालय रांची में होगा, जबकि सभी जिलों में विश्वविद्यालय के अध्ययन केंद्र होंगे। विश्वविद्यालय में अगले वर्ष जनवरी से पढ़ाई शुरू करने की तैयारी चल रही है। इससे पहले इस विधेयक पर राज्यपाल की मंजूरी लेनी होगी। राज्यपाल की मंजूरी के बाद विश्वविद्यालय में संचालित होनेवाले सभी पाठ्यक्रमों की यूजीसी से स्वीकृति ली जाएगी। इस बीच उच्च एवं तकनीकी शिक्षा विभाग द्वारा पद सृजन की कार्रवाई की जाएगी, ताकि नियुक्ति प्रक्रिया शीघ्र शुरू की जा सके।झारखंड राज्य खुला विश्वविद्यालय के कुलपति की नियुक्ति के लिए अभ्यर्थी को विख्यात शिक्षाविद होना चाहिए। साथ ही प्रोफेसर के रूप में 10 वर्ष का अनुभव अथवा किसी प्रतिष्ठित शोध या अकादमिक प्रशासनिक संस्था में समकक्ष पद पर 10 वर्ष कार्य करने का अनुभव होना चाहिए। कुलपति की नियुक्ति पांच सदस्यीय चयन समिति की अनुशंसा पर राज्यपाल करेंगे।

राज्यपाल द्वारा नामित व्यक्ति, जो शिक्षा के क्षेत्र में राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त विद्वान या पद्म पुरस्कार प्राप्त शिक्षाविद।

-राज्यपाल द्वारा नामित राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त संस्थान के निदेशक या कुलपति।

-राज्यपाल द्वारा नामित झारखंड राज्य विश्वविद्यालय के वरिष्ठतम सेवारत कुलपति।

-राज्यपाल द्वारा नामित इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय के कुलपति या उनकी अनुपलब्धता में किसी भी राज्य के खुला विश्वविद्यालय के कुलपति।

राज्य सरकार द्वारा नामित उच्च शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव।

Review झारखंड के ओपेन यूनिवर्सिटी में जनजातीय भाषाओं की भी पढ़ाई, कुलपति व प्रोफेसर की शीघ्र होगी नियुक्ति.

Your email address will not be published. Required fields are marked *