टी10 प्रारूप का भविष्य उज्जवल, ओलंपिक में भी खेला जा सकता है: डु प्लेसिस

दक्षिण अफ्रीका के पूर्व कप्तान फाफ डु प्लेसिस को लगता है कि टी10 प्रारूप का भविष्य उज्जवल है और इसे ओलंपिक में भी खेला जा सकता है।

यह अनुभवी बल्लेबाज 19 नवंबर से चार दिसंबर तक जाएद क्रिकेट स्टेडियम में खेली जाने वाली अबुधाबी टी10 लीग में पदार्पण करने को तैयार है।

डु प्लेसिस ने वर्चुअल कांफ्रेंस के दौरान कहा, ‘‘मैं लंबे समय तक तीनों प्रारूपों में खेल चुका हूं और मैं अब भी टी10 प्रारूप के प्रति आकर्षित होता हूं। मुझे लगता है कि मेरे जैसे खिलाड़ी इस तरह के टूर्नामेंट में खेलना चाहेंगे। ’’

उन्होंने कहा, ‘‘टी10 का भविष्य अच्छा दिख रहा है। यह ऐसा प्रारूप है जिसे ओलंपिक में भी इस्तेमाल किया जा सकता है। टी10 में लगने वाला कम समय भी दर्शकों को आकर्षित करता है। मुझे लगता है कि टी10 बेहतर से बेहतर ही होता जायेगा। ’’

साल के शुरू में आईसीसी (अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद) ने पुष्टि की थी कि वह 2028 लास एंजिल्स ओलंपिक में क्रिकेट को शामिल करने की पेशकश करेगा।

नये प्रारूपों के बारे में इस दक्षिण अफ्रीकी खिलाड़ी ने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि जब आप एक प्रारूप से दूसरे प्रारूप में खेलते हो तो इस दौरान यह सिर्फ आपके खेल की समझ ही होती है। ’’

उन्होंने कहा, ‘‘आपको सिर्फ ‘ब्लूप्रिंट’ के बारे में सोचने की जरूरत होती है जिससे आपको निरंतर नतीजे मिलते रहेंगे।

डु प्लेसिस ने इंडियन प्रीमियर लीग में शानदार प्रदर्शन किया था जिसमें उनकी टीम चेन्नई सुपर किंग्स ने खिताब जीता था।

वह अबुधाबी टी10 के आगामी सत्र में बांग्ला टाइगर्स की अगुआई करेंगे।

Review टी10 प्रारूप का भविष्य उज्जवल, ओलंपिक में भी खेला जा सकता है: डु प्लेसिस.

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Spread the love