गिरिडीह में जान की दुश्मन बनी मधुमक्खी, हमले में बुजुर्ग दंपती की गई जान,

जिला संवाददात – पवन कुमार वर्मा

गिरिडीह में लगातार दो दिनों से मधुमक्खियों का आतंक थमने का नाम नहीं ले रहा है, इस बार मधुमक्खियों के हमले से एक दंपती की मौत हो गई | घटना के बाद इलाके में डर का माहौल है और लोग मुआवजे की मांग कर रहे हैं |
गिरिडीह:- सदर प्रखंड के जीतपुर पंचायत अंतर्गत करमाटांड़ गांव में मधुमक्खियों के कारण कोहराम मच गया, मधुमक्खियों के हमले से एक बुजुर्ग दंपती की मौत हो गई है.
बुजुर्ग दंपती शनिचर महतो और उसकी पत्नी भिखनी देवी रविवार को अपनी बकरियों को लेकर पास के जंगल में गए थे, जहां दोनों पर मधुमक्खियों ने धावा बोल दिया एक साथ सैकड़ों मधुमक्खी दोनों पर टूट पड़े इस हमले से दोनों जंगल में ही बेहोश हो गए बताया जाता है कि बेहोशी की हालत में भी मधुमक्खी लगातार डंक मारता रहा इसकी जानकारी किसी तरह परिजनों को मिलने के बाद घटनास्थल पर पहुंचे | घटना की जानकारी मिलते ही कुछ युवक बरसाती पहनकर जंगल पहुंचे, जंगल में मशाल भी जलाया गया इसके बाद दोनों को शहर के एक अस्पताल ले जाया गया जहां पहुंचते ही भिखनी देवी की मौत हो गयी वहीं गंभीर रूप से घायल शनिचर महतो को धनबाद रेफर किया गया लेकिन रास्ते में उसने भी दम तोड़ दिया इस घटना के बाद जहां मृतक के परिजन शोकाकुल हैं वहीं ग्रामीण दहशत में हैं इधर पूर्व विधायक प्रो. जेपी वर्मा ने भी मृतक के परिजनों से मुलाकात की है और शोक व्यक्त किया है |
लगातार हो रहा है हमला बता दें कि गिरिडीह के कई प्रखंडों में मधुमक्खी ने आतंक मचा रखा है आये दिन कहीं न कहीं घटना घटती रहती है शनिवार की देर शाम भी तिसरी प्रखंड में एक बच्ची की मौत मधुमक्खी की वजह से हो गई थी | झारखंड के गिरिडीह जिला से पवन कुमार वर्मा का रिपोर्ट

Review गिरिडीह में जान की दुश्मन बनी मधुमक्खी, हमले में बुजुर्ग दंपती की गई जान,.

Your email address will not be published. Required fields are marked *