यूनिसेफ के कुमार प्रेमचंद का SBM(G) कर्मियों ने पुतला दहन किया

NH DESK-JHARKHAND

 

 

रांची।पेयजल स्वच्छता विभाग झारखंड सरकार की महत्वकांक्षी योजना स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण के अंतर्गत कार्य कर रहे एसबीएमजी कर्मियों का राज भवन के समीप धरना प्रदर्शन का आज 27 वा दिन कार्यक्रम जारी रहा ।

उक्त कार्यक्रम में एसबीएमजी कर्मियों ने मुख्यमंत्री एवं मंत्री के साथ-साथ सचिव पेयजल विभाग के विरुद्ध नारेबाजी किया जानकारी देते हुए प्रखंड समन्वयक रांची के रोमा कुमारी ने बताया कि देश के तमाम राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों में एसबीएमजी कर्मियों का समायोजन कर दिया गया है। इसके बावजूद झारखंड सरकार ने हमारा समायोजन ना कर हमारे ही जगह में नई नियुक्ति प्रक्रिया अपना रही है जिसका विरोध हम सभी कर्मी गन कर रहे हैं उन्होंने यह भी बताया कि जब तक समायोजन नहीं होगा तब तक धरना को खत्म नहीं किया जाएगा।

 

यूनिसेफ के वाश स्पेशलिस्ट कुमार प्रेमचंद का जला पुतला

 

यूनिसेफ के कुमार प्रेमचंद का SBM(G) कर्मियों ने पुतला दहन किया।जानकारी देते हुए कौशर आजाद ने बताया कि कुमार प्रेमचंद के द्वारा समायोजन में बाधा उत्पन्न किया जा रहा है केंद्र सरकार के स्पष्ट निर्देश के बावजूद इनके द्वारा विभाग को दिग्भ्रमित किए जाने का कार्य किया गया है केंद्र सरकार के पत्र के आलोक में राजस्थान सरकार छत्तीसगढ़ सरकार बिहार सरकार एवं देश के तमाम राज्यों ने अपने एसबीएमजी कर्मियों का सेवा को समायोजन किया है जबकि वास् स्पेशलिस्ट कुमार प्रेमचंद ने विषय वस्तु को गलत तरीके से परिभाषित करते हुए कार्यरत कर्मी को हटाकर उन्हें उनके ही जगह में नई नियुक्ति प्रक्रिया अपनाने से संबंधित नियमावली राज्य सरकार के सामने प्रस्तुत की है जिसका उदाहरण प्रखंड स्तर पर इन्होंने वास स्पेशलिस्ट समन्वयक जैसे पदों का सृजन किया है ताकि अपने लोगों को भरा जा सके जबकि देश के तमाम राज्यों में प्रखंड समन्वयक पद का ही सृजन किया गया है इससे स्पष्ट है कि इन्होंने समायोजन नहीं करने से संबंधित विषयों को परिभाषित करते हुए सरकार के अधिकारियों को गलत परामर्श देकर 522 कर्मियों का भविष्य अधर में लटका दिया है

एक और उदाहरण इन्होंने अपने परामर्श में एसबीएमजी कर्मी एवं जल जीवन मिशन को जोड़ते हुए नई नियुक्ति नियमावली का परामर्श राज्य सरकार को दिया है।

उपस्थित कर्मियों ने नारेबाजी करते हुए बताया कि यूनिसेफ हेड को अभिलंब कुमार प्रेमचंद जैसे कर्मियों को झारखंड से हटाया जाना चाहिए यदि इनको झारखंड से नहीं हटाया जाता है तो एसबीएमजी कर्मी उग्र आंदोलन करने को बाध्य होंगे।

Review यूनिसेफ के कुमार प्रेमचंद का SBM(G) कर्मियों ने पुतला दहन किया.

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Spread the love