केंद्रीय कोयला मंत्री ने किया पिपरवार दौरा

NH DESK JHARKHAND

विनीत कुमार, खलारी/ डकरा ,रांची

देश के विद्युत संयंत्रों में कोयले का पर्याप्त स्टॉक नहीं होने से बिजली संकट की संभावना का असर दिखने लगा है. केंद्रीय कोयला मंत्री आज (14 अक्टूबर) झारखंड दौरे पर हैं. वह विशेष विमान से छत्तीसगढ़ से रांची पहुंचे. फिर एयरपोर्ट से ही पीपरवार स्थित ओपन कास्ट माइंस अशोक परियोजना का निरीक्षण करने पहुंचे.हैलीकॉप्टर पिपरवार कायाकल्प वाटिका के हैलीपैड में उतारा गया मंत्री को सिमरिया विधायक किशुन दास और उपायुक्त ने बुके दे कर स्वागत किया इसके बाद सड़क मार्ग से अशोका माइंस के निरीक्षण किया।साथ ही उन्होंने बचरा साइडिंग का भी निरीक्षण किया।पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि कोयले के संकट पर किसी को पैनिक होने की जरूरत नहीं है.।’कोयले की कमी नहीं होने दी जाएगी कोयला संकट पर कोयला मंत्री ने देश को आश्वस्त करते हुए कहा कि किसी भी थर्मल पावर स्टेशन में कोयले की कमी नहीं होने दी जाएगी.। 22 प्रतिशत कोयले का आयात बंद होने और ज्यादा बारिश के कारण देश में उत्पादन प्रभावित हुआ है. लेकिन कल से ही दो मिलियन टन कोयले का उत्पादन होने लगा है. कोयला मंत्री ने कहा कि “मुझे बयानबाजी में कोई इंटरेस्ट नहीं है. थर्मल पावर के लिए जो चाहिए उसके लिए हम सब मिलकर पूरा प्रयास कर रहे हैं. मैं भरोसा दिलाना चाहूंगा कि किसी भी पावर प्लांट में कोयले के सप्लाई प्रभावित नहीं होगी. इसके लिए पैनिक होने की जरूरत नहीं है “.मौके पर सिमरिया विधायक किशुन दास सीसीएल सीएमडी पीएम प्रसाद चतरा उपायुक्त अंजली यादव,एसपी राकेश रंजन,एसडीओ,सुधीर कुमार,पिपरवार जीएम सीबी सहाय,अशोका परियोजना पदाधिकारी अविनाश कुमार,टंडवा बीडीओ रंथु महतो,टंडवा एसडीपीओ शंभु सिंह,टंडवा थाना इंस्पेक्टर विजय सिंह,पिपरवार थाना प्रभारी गोविंद कुमार,एरिया सिक्युरिटी अरुण महतो सहित सीसीएल के कई अधिकारी मौजूद थे।

Review केंद्रीय कोयला मंत्री ने किया पिपरवार दौरा.

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Spread the love